Thursday, May 23, 2024
Homeसोलननालागढ़मुख्यमंत्री ने की बद्दी में एसडीएम कार्यालय खोलने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने की बद्दी में एसडीएम कार्यालय खोलने की घोषणा

नालागढ़/प्रवीन कौशिक

 

सोलन जिले के बद्दी में इस वर्ष पहली अक्तूबर से उपमंडलाधिकारी (एसडीएम) का कार्यालय खोला जाएगा। यह घोषणा मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने प्रदेश के मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण करने के बाद, दून विधानसभा क्षेत्र के पहले दौरे के दौरान हनुमान चौक बद्दी में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए की। उन्होंने बद्दी में बीएमओ कार्यालय और झारमाजरी में पटवार वृत खोलने की घोषणा भी की। उन्होंने अधिकारियों को बद्दी बस स्टैंड की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए।

Chief Minister announced to open SDM office in Baddi from 1st October
ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि पिछली सरकार के वित्तीय कुप्रबंधन के कारण राज्य के प्रत्येक व्यक्ति पर 92,840 रुपये का ऋण है, जिससे राज्य को आर्थिक संकट के दौर का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की आर्थिक स्थिति इतनी खराब है कि राज्य के विभिन्न व्ययों का प्रबंधन करने में मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार को पिछली सरकार की देनदारियों को चुकाने के लिए 6000 करोड़ रुपये का ऋण लेना पड़ा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद वे वित्तीय अनुशासन के दृष्टिगत निर्णय लेकर राज्य की आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए ठोस प्रयास कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार संसाधन जुटाने के लिए काम कर रही है, ताकि विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के लिए राज्य के पास धन उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में स्थापित जलविद्युत परियोजनाओं पर जल उपकर लगाया गया है, जिससे राज्य की वित्तीय स्थिति में काफी सुधार आएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने राज्य की शराब की दुकानों की नीलामी की है, जिससे राजस्व में 40 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि सरकार ने राज्य के 6000 अनाथ बच्चों के लिए मुख्यमंत्री सुख-आश्रय योजना आरंभ की है, ताकि सरकार द्वारा अनाथ बच्चों की देखभाल सुनिश्चित की जा सके। योजना के तहत अनाथ बच्चों की उच्च शिक्षा का पूरा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। इसके साथ ही 4000 रुपये पॉकेट खर्च के तौर पर दिए जाएंगे और वर्ष में एक बार उनके एक्सपोजर विजिट का व्यय भी सरकार वहन करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा अनाथ बच्चों को घर बनाने के लिए तीन बिस्वा जमीन और आर्थिक सहायता भी दी जाएगी। राज्य सरकार जरूरतमंद लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति से अवगत है और उनके जीवन में सुधार के लिए विभिन्न कदम उठा रही है ताकि वे एक सम्मानित जीवन जी सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए एक प्रतिशत की दर से ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है ताकि कोई भी बच्चा संसाधनों के अभाव में शिक्षा से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि एकल नारी को घर बनाने के लिए डेढ़ लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का बजट में प्रावधान किया गया है। इसके अलावा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए बजट में कई प्रावधान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ई-ट्रक, ई-बस, ई-टैक्सी और ई-गुड्स कैरियर की खरीद के लिए 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करेगी जिसके कि न केवल हिमाचल प्रदेश को देश का हरित राज्य बनने में सहायता मिलेगी, बल्कि युवाओं को स्वरोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के युवाओं को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए 250 किलोवाट से 2 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजनाएं स्थापित करने पर 40 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए नई निवेश नीति लाई जा रही है, जिससे उद्यमियों के साथ-साथ प्रदेश की जनता को भी लाभ होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नशा निवारण व मादक पदार्थों के दुरुपयोग पर अंकुश लगाने के दृष्टिगत भी गंभीर प्रयास कर रही है और उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस संबंध में सख्त कानून बनाने का आग्रह भी किया है।
इस अवसर पर शिवालिक कोआपरेटिव हाउसिंग सोसायटी झारमाजरी ने मुख्यमंत्री सुख-आश्रय कोष के लिए मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू को एक लाख रुपये का चेक भेंट किया।
इससे पहले, मुख्यमंत्री ने दून विधानसभा क्षेत्र में 22.30 करोड़ रुपये की लागत की पांच विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए।
मुख्यमंत्री ने दून विधानसभा क्षेत्र के बुघार में बनिया देवी-बुघार मार्ग पर गंभर खड्ड पर 5.16 करोड़ की लागत के पुल का लोकार्पण किया जिससे कि अर्की, दून और कसौली विधानसभा क्षेत्र के लोग लाभान्वित होंगे।
उन्होंने बद्दी क्षेत्र के कल्याणपुर में 3.33 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित महिला पुलिस थाने का लोकार्पण भी किया।
मुख्यमंत्री ने हरिपुर से चुनरी संपर्क रोड में सिरसा खड्ड पर 11.44 करोड़ रुपये की लागत के 180 मीटर लंबे डबल लेन पुल का शिलान्यास, बद्दी में सनसिटी रोड पर 1.50 करोड़ रुपये की लागत से साइकिल ट्रैक और 87 लाख रुपये की लागत से बनने वाले लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता कार्यालय एवं आवासीय भवन का शिलान्यास भी किया।
इससे पूर्व, सोलन जिला के अर्की विधानसभा क्षेत्र के कुनिहार में आगमन पर अर्की, दून व कसौली विधानसभा क्षेत्र से भारी संख्या में लोगों ने ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू का स्वागत किया।
इस अवसर पर विभिन्न संघों और लोगों ने मुख्यमंत्री को अपनी मांगों से अवगत करवाया।
बद्दी हेलीपोर्ट पर भी भारी तादाद में एकत्रित लोगों ने मुख्यमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया।
मुख्य संसदीय सचिव राम कुमार चौधरी ने बद्दी में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार दून विधानसभा क्षेत्र के चहुंमुखी विकास के लिए हमेशा संवेदनशील रही है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू प्रदेश के विकास और लोगों के कल्याण के लिए दिन-रात निरंतर मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने बद्दी में एसडीएम कार्यालय और बीएमओ कार्यालय खोलने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने अपने मंत्रिमंडल की पहली बैठक में ओपीएस बहाल की है तथा 2.31 लाख महिलाओं को 1500-1500 रुपये प्रदान करने के लिए बजट में प्रावधान किए हैं।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डाॅ. (कर्नल) धनी राम शांडिल, लोक निर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह, मुख्य संसदीय सचिव संजय अवस्थी, विधायक विनोद सुल्तानपुरी, सुरेश कुमार और के.एल. ठाकुर, जिला परिषद अध्यक्ष सोलन रमेश ठाकुर, हिमाचल प्रदेश लघु बचत बोर्ड के उपाध्यक्ष प्रकाश करड़, जिला कांग्रेस कमेटी सोलन के अध्यक्ष शिव कुमार, पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष सोलन राहुल ठाकुर, जोग्रिंद्रा सेंट्रल को-आपरेटिव बैंक के अध्यक्ष मुकेश शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरदीप बावा, कांग्रेस के नेतागण और वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments