Thursday, May 23, 2024
Homeऊनाबंगाणाराष्ट्रीय स्तर की बास्केटबॉल* प्रतियोगिता में डी.ए.वी. लठियाणी की बल्ले बल्ले

राष्ट्रीय स्तर की बास्केटबॉल* प्रतियोगिता में डी.ए.वी. लठियाणी की बल्ले बल्ले

डी.ए.वी. लठियाणी की अंडर- 14 और अंडर- 17 छात्राओं ने रचा नया इतिहास

 राकेश राणा// बंगाणा

जिंदगी की असल उड़ान बाकी है, जिंदगी के नए इम्तहान बाकी हैं, अभी तो मापी है मुट्ठी भर जमीन हमने अभी तो सारा आसमान बाकी है।
उक्त पंक्तियां डी.ए.वी. लठियाणी की छात्राओं पर सही बैठती हैं।
डी.ए.वी. प्रबंधकृतृ समिति नई दिल्ली द्वारा दिल्ली के तत्वाधान में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताएं करवाई गई। जिसमें डी.ए.वी. लठियाणी के बास्केटबॉल की टीमों ने हिमाचल का प्रतिनिधित्व करते हुए अपनी जीत का परचम लहराया। राष्ट्रीय स्तर पर अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए अपने स्कूल को पूरे इलाके, पूरे हिमाचल व पूरे भारत में गौरवान्वित कर चार चांद लगा दिए।


अंडर- 14 अंडर -17 छात्राओं ने बास्केटबॉल में शानदार जीत हासिल करते हुए अपनी जीत का लोहा मनवाया। इसमें अंडर -14 बास्केटबॉल टीम में दिव्या, अनिष्का, नव्या, हिमांगी कनिका सिया ,सिद्धि , कनिका ठाकुर यशिका, आरुषि ने भाग लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया और अंडर- 17 में अंशिका, वंशिका, वर्षा, समीक्षा, श्रेया, अंकिता ने बास्केटबॉल टीम में भाग लेकर अपना हुनर दिखाया।
स्कूल के लिए यह बहुत गर्व की बात है इन छात्राओं ने यह साबित कर दिया कि यदि मन लगाकर किसी कार्य को किया जाए तो कठिन से कठिन काम को भी आसान बनाया जा सकता है। बच्चों की इस जीत पर प्रधानाचार्य नसीब ठाकुर बहुत खुश हैं ,इस जीत के लिए सभी खिलाड़ियों, उनके कोच व सभी स्टाफ सदस्यों को बधाई दी। उन्होंने बच्चों की कामयाबी पर कहा कि यह खिलाड़ियों की दृढ़ इच्छा शक्ति व परिश्रम तथा निरंतर अभ्यास का परिणाम है कि वह लगातार जीत हासिल करती जा रही हैं, उन्होंने छात्राओं के बेहतर प्रदर्शन की सराहना करते हुए बताया कि आज का दौर प्रतिस्पर्ध से भरा है अगर विद्यार्थियों को सफलता हासिल करनी है तो उन्हें हर क्षेत्र में निपुण होना होगा। विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए क्योंकि खेलें विद्यार्थी जीवन का महत्वपूर्ण अंग है डी ए वी लठियाणी विद्यार्थियों के बौद्धिक विकास के साथ-साथ खेलों द्वारा शारीरिक विकास भी कर रहा है इसलिए विद्यार्थियों को अपना लक्ष्य पाने के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ-साथ कठिन परिश्रम करना चाहिए और सफलता हासिल करनी चाहिए

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments