Monday, April 22, 2024
Homeऊना35 वर्ष का सफल सेवाकाल पूर्ण करने के उपरांत डॉ. रमन कुमार...

35 वर्ष का सफल सेवाकाल पूर्ण करने के उपरांत डॉ. रमन कुमार शर्मा प्राचार्य पद से हुए सेवानिवृत्त

अंब, अविनाश चौहान

 

राजकीय उत्कृष्ट महाविद्यालय अम्ब के प्राचार्य डॉ रमन कुमार शर्मा जी अपने 35वर्षों के सेवाकाल के बाद आज 31मार्च 2023 को सेवानिवृत हुए। इस विदाई समारोह में महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक प्रो.राजेश शर्मा जी ने स्टाफ के समस्त सदस्यों के साथ उनका अभिनंदन किया और उनको स्मृति चिन्ह एवम् शॉल व टोपी पहनाकर सम्मानित किया।प्राचार्य रमन कुमार शर्मा जी ने स्टाफ के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया और अपने वक्तव्य में कहा की उच्च शिक्षा विभाग में सेवाएं देना हमेशा उनके लिए गर्व का विषय रहा एवं हमेशा उन्होंने कुछ ना कुछ सीखा।

उन्होंने कहा की एक शिक्षक की भूमिका शिक्षार्थियों को प्रेरित करने, प्रोत्साहित करने और शिक्षित करने के लिए है। शिक्षक की भूमिका हमेशा एक सूत्रधार की होती है। प्राचार्य डॉ रमन शर्मा गांव मस्त्याल तहसील जस्वां, जिला कांगड़ा हि ० प्र ०के स्थानीय निवासी हैं। इनके पिता का नाम स्व. श्री जगदीश चन्द् एवं माता का नाम श्रीमती कांता देवी है। इनके जीवन में इनकी जीवनसंगिनी श्रीमती अनीता देवी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इनके दो बच्चे, बेटा शुभम शर्मा एवं बेटी डॉ श्रेया शर्मा हैं। डॉ श्रेया शर्मा एम बी बी एस हैं और वर्तमान समय में शिमला से एमडी कर रहीं हैं, इनकी बेटी स्वास्थ्य विभाग में डॉक्टर के पद पर अपनी सेवाएं दे रही हैं। इन्होंने अपनी आठवीं कक्षा तक की पढ़ाई राजकीय माध्यमिक विद्यालय नियाड़ और नवमी व दसवीं की शिक्षा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बाथू टिप्परी,कांगड़ा से ग्रहण की। इसके बाद इन्होंने विज्ञान संकाय में स्नातक की शिक्षा राजकीय महाविद्यालय ऊना से की। उसके उपरांत इन्होंने भौतिकी विज्ञान में एम एस सी, एम फिल, पी एच डी हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से की। प्राचार्य डॉ रमन कुमार शर्मा जी ने अपना अध्यापन कार्य 1989 से एसडी सीनियर सकेंडरी स्कूल शिमला से शुरू किया।यहां इन्होंने 1989 से लेकर 1991 तक अपनी सेवाएं दीं।1991 से लेकर 1993 तक SVSD कॉलेज भटोली, ऊना में अपनी सेवाएं दी।
राजकीय महाविद्यालय सरस्वती नगर ,शिमला में 1 सितंबर 1993 में प्राध्यापक के तौर पर उच्च शिक्षा विभाग में अपनी सरकारी सेवाएं दी। इसके बाद इन्होंने हिमाचल प्रदेश के विभिन्न सरकारी महाविद्यालयों, राजकीय महाविद्यालय पालमपुर, राजकीय महाविद्यालय धर्मशाला, राजकीय महाविद्यालय ऊना, राजकीय महाविद्यालय अम्ब में प्रोफ़ेसर पद पर अपनी सेवाएं दी। मई 2017को इनकी पदोन्नति प्राचार्य के रूप में हुई और इन्होंने राजकीय महाविद्यालय रक्कड़, कांगड़ा में प्राचार्य के पद पर अपनी सेवाएं दी। 1/7/2019 को इनकी नियुक्ति प्राचार्य पद पर राजकीय महाविद्यालय अम्ब में हुई। इनके कई विद्यार्थी वर्तमान समय में उच्च सरकारी पद पर आसीन हैं इन्होंने अपने सम्पूर्ण सेवाकाल में साधक सा जीवन जिया और महाविद्यालय अम्ब के सर्वांगीण विकास के लिए हमेशा अग्रणीय भूमिका निभाई। यह अम्ब वासियों के लिए बेहद गर्व का विषय रहा। इन्होंने बहुत ईमानदारी,कर्मठता,शालीनता,सादगी और अथक परिश्रम से अपनी सेवाएं उच्च-शिक्षा विभाग में दीं। इनके ही प्रयासों का नतीज़ा है की आज राजकीय उत्कृष्ट महाविद्यालय अम्ब चहुमुंखी विकास की ओर अग्रसर है। इनके ही प्रयासों से महाराणा प्रताप राजकीय महाविद्यालय अम्ब वर्तमान समय में उत्कृष्ट महाविद्यालय अम्ब के नाम से जाना जाता है। इन्होंने राजकीय महाविद्यालय अंब के साथ – साथ राजकीय महाविद्यालय दौलतपुर चौक का कार्यभार भी संभाला,यह हम सभी के लिए बहुत गर्व का विषय है।राजकीय महाविद्यालय दौलतपुर चौक ने भी इनके सेवाकाल में दिन दुगुनी- रात चौगुनी उन्नति की। इनकी सेवाएं हिमाचल प्रदेश सरकार के लिए हमेशा सराहनीय है। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्रो.राजेश शर्मा, डॉ सोफिया प्रभाकर, प्रो.रेखा शर्मा, प्रो.सतपाल, प्रो.सुखदेव, प्रो.अमित शर्मा, डॉ सुरुचि शर्मा, डॉ गोदावरी, डॉ नितिन, डॉ कृष्णा, प्रो.अजय, प्रो. अनय, डॉ.सुजाता, प्रो.प्रीति, डॉ पवन पटियाल, प्रो.वंदना, प्रो.सुरेता, डॉ. रजनीश, प्रो. जमीत, प्रो.राजेश, डॉ.श्रुति, प्रो.अनिल वर्मा, प्रो.राममूर्ति, प्रो.पूनम, प्रो.अरुणा, डॉ.रीचू कालिया, डॉ.विजेंद्र, प्रो.मोनिका, प्रो.आशुतोष, प्रो.हरजीत, प्रो.रेखा जसवाल, प्रो.रेनू, प्रो.नेहा, कार्यालय अधीक्षक ग्रेड वन श्री जीत राम, कार्यालय अधीक्षक श्री रवीन्द्र वर्मा, सीनियर असिस्टेंट अमरीश डोगरा, मैडम अनीता शर्मा, श्री नैनिपाल, मैडम सपना सूद, मैडम पूनम, मैडम शीवाक्षी, मनोज सर, ओमप्रकाश सर सहित प्राचार्य रमन कुमार शर्मा की धर्मपत्नी श्रीमती अनीता शर्मा, उनकी माता श्रीमती कांता देवी, उनके छोटे भाई श्री संजीव, बेटा शुभम शर्मा, बेटी डॉ श्रेया और अन्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments