Monday, April 22, 2024
Homeभारतधूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया जश्न ए आजादी पर्व

धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया जश्न ए आजादी पर्व


राजौरी-पुंछ LoC पर तैनात जवानों में दिखा उत्साह

राजौरी ( अनिल भारद्वाज)

सीमावर्ती जिला राजौरी व पुंछ में जश्न ए आजादी का 77वां पर्व यानी स्वतंत्रता दिवस उत्साह व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया राजौरी का मुख्य समारोह पुलिस लाइन में आयोजित किया गया। जहां डीडीसी चेयरमैन नसीम लियाकत ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और मुख्य अतिथि ने बीएसएफ की जीप में सवार होकर परेड ग्राउंड का निरीक्षण किया और डीसी विकास कुंडल, एसएसपी अमृतपाल सिंह की उपस्थिति में परेड की सलामी ली।

जेकेएपी, सीआरपीएफ, जेके कार्यकारी पुलिस, जेके पुलिस बैंड के अलावा विभिन्न सरकारी और निजी स्कूलों के छात्रों ने मार्च पास्ट में भाग लिया। डीडीसी चेयरमैन ने लोगों को शुभकामनाएं दीं और स्वतंत्रता सेनानियों को उनके सर्वोच्च बलिदानों के लिए श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने देश को आजादी दिलाई। उन्होंने राजौरी के उन सभी शहीदों को भी याद किया, जिन्होंने राष्ट्र की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगाई। साथ हो साथ विकास कार्यों पर नजर डाली। निजी व सरकारी स्कूलों के बच्चों द्वारा देशभक्ति व रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए।
वहीं बतादें कि जिला राजौरी में हर जगह तिरंगा अभियान अधूरा रहा जो देखा भी गया जिला सचिवालय से कुछ ही दूरी पर झुग्गियों झोपड़ी बालों तक प्रशासन नहीं पहुंच पाया , लेकिन राजौरी नगर के व्यापार मंडल अध्यक्ष राजेश गुप्ता (बिट्टू) उनके के पास पहुंचे और झंडा फहरा कर स्वतंत्रता दिवस मनाया।
सामाजिक कार्यकर्ता प्रभजोत सिंह काका ने भी स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी।
राजौरी में सुशील बजंरगी ने अपने पैसे से राजौरी के मुख्य द्वार सैलानी ब्रिज को सजाया जिसकी लोगों व सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों ने सराहना की। सुशील बजरंगी ने म्युनिसिपल काउंसिल राजौरी पर कईं इल्जाम भी लगाए है आवाम का कहना है यह सच है।

राजौरी मुख्य समारोह में स्टेज संभाले हुए सुमित भार्गव जो पेशे से पत्रकार हैं उन्होंने बातों ही बातों खुले में प्रशासनिक अधिकारियों व शामिल लोगों से कुछ माह पहले राजौरी में आतंकी हमले में शहीद 5 जवानों के नाम , अफसोस जिसके जिसके लिए मात्र एक ही हाथ खड़ा हो पाया। और भार्गव ने एक एक कर शहीद जवानों के नाम गिनवाए और शहीद जवान की बेटी का मैसेज पापा छुट्टी कब आओगे सुनते ही सबकी आंखें नम हो गई सुमित ने कहा कि हम लोग स्वतंत्रता दिवस मना तो रहे है लेकिन शहीदों को याद रखना चाहिए।उन्होंने कहा कि सर ए जमी राजौरी में शहादत देने बाले दो वर्षीय बच्ची के पापा का नाम 95 प्रतिशत लोग चंद दिनों में ही भूल गए जो अफसोस की बात है, चलो अगला सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया जाए।
सीमावर्ती जिला पुंछ में भी स्वतंत्रता दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। जिले के अन्य तहसील मुख्यालयों के अलावा दूरदराज के सभी इलाकों में भी कार्यक्रम करवाए गए।

LOC पर उत्साहित दिखे जवान, दुश्मनों को हद में रहने का स्पष्ट संकेत,
सरहदों के रक्षकों ने मंगलवार को हर अग्रिम इलाकों में स्वतंत्रता दिवस पर देश की खातिर हर कुर्बानी देने के अपने प्रण को दोहराया। सीमांत क्षेत्रों में शान से तिरंगे लहरा रहे सुरक्षाकर्मियों ने दुश्मन को अपनी हद में रहने का स्पष्ट संदेश भी दिया। जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती जिला राजौरी व जिला पुंछ के अग्रिम चौकियों पर तैनात जवानों में उत्साह देखने को मिला।
वहीं जम्मू-कश्मीर लद्दाख की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने वाली सेना की उत्तरी कमान के आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेन्द्र द्विवेदी ने स्वतंत्रता दिवस पर सैनिकों को बधाई दी।

  • सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त
    स्वतंत्रता दिवस के दौरान शरारती और राष्ट्रविरोधी तत्व किसी जगह कोई गड़बड़ी न कर सकें, इसके लिए सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त रहा। सीमावर्ती इन दोनों जिलों और कस्बों में जहां भी समारोह स्थल था, सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए गए थे। इसके अलावा, सभी संवेदनशील इलाकों में सुरक्षाबलों की गश्त भी बढ़ाई गई थी और सभी चिन्हित स्थानों पर किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए सुरक्षाबलों के क्यूआरटी दस्तों को तैनात किया गया था। इसके अलावा, ड्रोन के जरिए भी आसमान से नीचे जमीन पर हालात की निगरानी की जा रही थी। 17 अगस्त से श्री बुड्ढा अमरनाथ जी पुंछ की वार्षिक यात्रा भी शुरू होने जा रही है जिसकी तैयारियां जोरों पर हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments