पहाड़ी से गिरकर युवक की दर्दनाक मौत, पैर फिसलने से हुआ हादसा।

 

तीन बच्चों और पत्नी को रोता बिखलता छोड़ गया शलेरा गांव का लेद राम।

प्रशासन द्वारा पीड़ित परिवार को दी गई फौरी राहत।

स्वतंत्र हिमाचल
प्रेम सागर चौधरी (बंजार)

उपमंडल बंजार की ग्राम पंचायत चनौन के शलेरा गांव में पिछ्ले कल शाम को एक दर्दनाक हादसा पेश आया। जानकारी के मुताबिक शलेरा गांव का युवक लेद राम पुत्र स्वर्गीय वर चन्द उम्र 45 वर्ष जब दिन भर मेहनत मजदूरी करने के बाद शाम के समय अपने घर जा रहा था तो करीब 6 बजे शाम घासनी से पहाड़ी रास्ते में चलते हुए जयपुर नामक स्थान पर उसका पैर फिसल गया और वह करीब 700 मीटर ऊंचाई ढांक से गिर कर सड़क पर पहुंच गया। जब गांव वालों ने उसे देखा तो पाया कि इस युवक की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। इस घटना की सुचना लोगों ने स्थानीय पुलिस स्टेशन बंजार में दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर छानबीन की और मृतक के शरीर को पोस्टमार्टम करने के लिए बंजार अस्पताल भेजा। जहां पर आज पोस्टमॉर्टम करने के बाद मृतक लेद राम के शव को अन्तिम दाह संस्कार हेतु उसके परिवार जनों को सौंपा गया है।

बताया जा रहा है कि मृतक लेद राम रोजाना अपनी दिहाड़ी मजदूरी कमाने के लिए घर से जाता था और वीरवार शाम को घर वापसी पर पहाड़ी रास्ते में चलते हुए अचानक उसका पैर फिसल गया और वह पहाड़ी की ऊंचाई पर स्थित घासनी से गिरकर नीचे सड़क पर पहुंच गया जिस कारण उसके शरीर में गहरी चोटें आई और उसने मौके पर ही दम तोड़ लिया। आज दोपहर बाद उसकी अन्तिम अंत्येष्टि कर दी गई है। इस युवक की अचानक दर्दनाक मौत से उसके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया है। मृतक अपने पीछे पत्नी और तीन बच्चों को रोता विखलता हुआ छोड़ गया है। मृतक लेद राम अत्यंत निर्धन परिवार से ताल्लुक रखता है जिस पर पुरे परिवार के पालन पोषण की जिमेवारी थी। स्थानीय प्रशासन द्वारा मृतक के आश्रतों को फौरी राहत के तौर पर पांच हजार रूपए की सहायता राशि प्रदान की गई है। लोगों ने सरकार से मांग की है कि इस गरीब परिवार को शीघ्र अति शीघ्र हर सम्भव आर्थिक सहायता दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!