मंडी

प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापिका संघ ने नियुक्ति को लेकर पीएम और सीएम को भेजा मांग पत्र

ढाई दशकों बाद भी नहीं लग पा रही है नौकरियां

 

 

(सरकाघाट )रंजना ठाकुर

राजकीय प्राथमिक पाठशालाओं में प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापिका संघ पिछले ढाई दशकों से नौकरी की आस लगाए बैठा है परंतु चाहे सरकार कांग्रेस की हो या भाजपा की हो घोषणा पत्रों में भरोसा तो देता है परंतु आज तक बेरोजगार अध्यापकों को नौकरी दिलाने में पूर्णत विफल रहा है यह बात प्रदेश प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापिका संघ की ब्लाक अध्यक्ष सुजाता द्वारा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जयराम को एसड़ीएम के माध्यम से भेजे मांग पत्र में कहीं l

उन्होंने कहा की प्राथमिक पाठशालाओँ में बच्चों की शिक्षा की मजबूती और शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए नर्सरी कक्षाओं के लिए प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापकों की नियुक्ति को लेकर हर सरकार ने सिर्फ घोषणाएं की है परंतु नौकरी किसी ने भी प्रदान नहीं की है l जबकि उन्होंने अपनी स्कूल की शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात नर्सरी अध्यापिका का प्रशिक्षण यह सोचकर प्राप्त किया था की उन्हें रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे l अधिकतम महिला गरीब परिवार से संबंधित है और अपनी नौकरी की उम्र भी पूरी कर चुकी हैं l

उन्होंने कहा की पूर्व सरकार ने वर्ष 1996 में नर्सरी अध्यापकों को प्राथमिक पाठशाला में लगाया था उसके बाद आज तक पूरे प्रदेश में कोई भी नर्सरी अध्यापिका नहीं लगाई गई है l

संघ ने सरकार से मांग की है कि बेरोजगार प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापकों की आयु सीमा में छूट दी जाए ताकि उन्हें प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापिका की नौकरी प्राप्त करने का अवसर मिल सके l इसके अलावा प्रशिक्षित नर्सरी अध्यापकों की नियुक्ति बैच वाइज करने आयु सीमा में छूट प्रदान करने नियुक्ति बिना किसी शर्त के करने योग्यता 10 + 2 करने वार्ड आफ एक्स सर्विसमैन का कोटा प्रदान करने के अलावा प्रशिक्षित नरसी अध्यापकों की नियुक्ति नियमित आधार पर करने की भी मांग की है l

ज्ञापन सौंपने में दीपशिखा रीना कुमारी अंजना रीना मनजीत मीणा गुलेरिया सरिता देवी कंचन आरती सुमन रेखा मंजू सपना रंजना भी ना सुमन शर्मा बबीता सुनीता राजकुमारी अनीता आशा रीनू आदि भी शामिल थी l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!