100 बैड का सरकारी अस्पताल चल रहा है 7 डॉक्टरों के सहारे

अस्पताल में पिछले 2 साल से खराब पड़ी है  अल्ट्रासाउंड मशीन, और डॉक्टर भी नहीं
सरकारी अस्पताल में मरीजों को सुविधा ना मिलने के कारण मरीजों को महंगे अस्पतालों में जाने को हुए मजबूर
इलाज करवाने आए मरीजों को हो रही भारी परेशानी
(बीबीएन)अजय रत्तन
बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में 100 बैड  का एक मात्र  सिविल अस्पताल नालागढ़ में है, जिसकी स्थिति  दिन प्रतिदिन बद से बदतर होती जा रही है। काफी लम्बे  समय से यहां ना तो कोई आंखों का डॉक्टर है ना ही कोई सर्जन। रेडियोलोजिस्ट का पद भी काफी लम्बे  समय से खाली चल रहा है जिसके कारण लोगों को यहां पर अल्ट्रासाउंड की सुविधा नहीं मिल पा रही है। अस्पताल में एन्थिसिया का डॉक्टर भी नहीं है। अगर सिजेरियन डिलीवरी करनी पड़े तो मरीज के तीमारदारों को खुद अपने खर्चे पर भारी रकम खर्च करके एन्थिसिया के डॉक्टर का प्रबंध करना पड़ता है।
 आज हालात यह है कि 100 बेड के अस्पताल में मात्र सात डाक्टर है जिसमें डेंटल के दो डाक्टर है। सरकार भी प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं सुदृढ़ करने के बड़े बड़े दावे कर रही है लेकिन ओद्योगिक क्षेत्र में यह सभी दावे  खोखले साबित हो रहे है।
नालागढ़ अस्पताल में रोजाना 700 से 800 के करीब ओ.पी.डी. होती है। ओद्योगिक क्षेत्र होने के चलते ज्यादातर प्रवासी मजदूर इसी अस्पताल पर निर्भर है। अस्पताल में अल्ट्रासांउड मशीन तो है लेकिन इसे चलाने वाले को किसी दूसरी जगह ट्रास्फर कर दिया गया है। रोजाना सैकड़ो लोग इलाज के लिए यहां पर पहुंचते है। जिसके चलते उन्हें मंहगे टेस्ट निजी लैब या अस्पतालों में करवाने पड़ रहे है। हालांकि गर्भवती महिलाओं के लिए निजी क्लीनिकों में अल्ट्रासांउड फ्री करवाने की व्यवस्था तो विभाग की ओर से की गई है। कुछ माह पहले नालागढ़ महिला स्वास्थ्य संघर्ष वाहिनी ने मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखकर आग्रह किया था कि नालागढ़ अस्पताल में 100 बैड के हिसाब से चिकित्सकों के खाली पद भरें जाएं। लेकिन सरकार ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया।
हाल ही में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने नालागढ़ दौरे के दौरान उन्होंने घोषणा की थी कि नालागढ़ सिविल अस्पताल को 100 बेड की जगह 200 बेड का अस्पताल बना दिया जाएगा लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि जब 100 बेड के अस्पताल के लिये सुविधाएं नहीं मिल रही तो 200 बेड का अस्पताल बनने के बाद कैसे सुविधा मिल पाएगी अब देखना यह होगा कि सरकार नालागढ़  अस्पताल में डॉक्टरों की कमी  को  कब तक पूरा करती है,यह तो आपने वाला वक़्त ही बताएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!