मुख्यमंत्री ने साईं स्टेडियम धर्मशाला में चार दिवसीय अन्तर विश्वविद्यालय क्षेत्रीय चैंपियनशिप के समापन समारोह की अध्यक्षता की

केन्द्रीय विश्वविद्यालय हिमाचल प्रदेश के देहरा और धर्मशाला परिसर में शीघ्र ही निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा

धर्मशाला, (ब्यूरो)
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज साईं स्टेडियम धर्मशाला में चार दिवसीय अन्तर विश्वविद्यालय क्षेत्रीय प्रतियोगिता के समापन समारोह की अध्यक्षता की। पूर्व मुख्यमंत्री एवं कार्यक्रम अध्यक्ष शांता कुमार और उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह विशेष अतिथि के रूप में समारोह में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि धर्मशाला और इस प्रतियोगिता से खिलाड़ी अच्छी यादें संजो कर वापिस जाएंगे। उन्होंने प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिए केन्द्रीय विश्वविद्यालय की टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि धर्मशाला जैसे पर्यटन शहर में खेलों का आयोजन बहुत लाभकारी है, क्योंकि इससे खिलाड़ी पर्यावरण के और अधिक निकट आते हैं।  मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएचपी) परिसर को स्थापित करने में विलम्ब हुआ, लेकिन अब बिना देरी किए देहरा और धर्मशाला दोनों ही स्थानों पर शीघ्र ही परिसर का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।
उन्होंने कोविड-19 महामारी और टीकाकरण अभियान से प्रभावी ढंग से निपटने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने खेलों के विजेता और उप-विजेता टीमों को बधाई देते हुए मुम्बई टीम को स्वर्ण पदक और उप-विजेता टीम सावित्रीबाई फुले को रजत पदक से सम्मानित किया। इसी प्रकार शिवाजी विश्वविद्यालय कोल्हापुर और दवांगिर विश्वविद्यालय को तीसरा स्थान प्राप्त करने पर कांस्य पदक प्रदान किया। जय राम ठाकुर ने अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ विश्वविद्यालय का न्यूज लैटर भी जारी किया। पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कहा कि हिमाचल प्रदेश केेंद्रीय विश्वविद्यालय (एचपीसीयू) के परिसर भवन का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जाना चाहिए। उन्होंने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि खिलाड़ियों को जीत-हार की परवाह किए बिना खेल भावना से खेलना चाहिए। खेलों में सद्भावना के साथ भागीदारी जरूरी है। उन्होंने इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों को बधाई देते हुए उन्हें खेल भावना के साथ जीवन जीने के लिए प्रेरित किया और छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि कठिनाइयां जीवन का अभिन्न अंग हैं। लेकिन हमें मुस्कुराते हुए इनका सामना करना चाहिए।  इससे पूर्व, मुख्य संरक्षक, कार्यक्रम के अध्यक्ष एवं केन्द्रीय विश्वविद्यालय हिमाचल प्रदेश के कुलपति प्रो. एस.पी. बंसल ने अतिथियों को शॉल और हिमाचली टोपी भेंट कर सम्मानित किया। डीन ऑफ स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. प्रदीप कुमार ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। मुंबई विश्वविद्यालय, सावित्रीबाई फुले विश्वविद्यालय पुणे को 18-12 से हराकर अंतर विश्वविद्यालय क्षेत्रीय पुरूष खो-खो चैंपियनशिप का विजेता बना। इस चैंपियनशिप का आयोजन केन्द्रीय विश्वविद्यालय हिमाचल प्रदेश द्वारा एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज, नई दिल्ली के तत्वावधान में किया गया। 27 मार्च से आरम्भ हुई चार दिवसीय चैंपियनशिप में 4 जोन की कुल 16 टीमों ने भाग लिया। चैंपियनशिप के विभिन्न मुकाबलों के दौरान सुखदीप सिंह ने रेफरी, अमरीक सिंह और विजय कुमार ने अंपायर, अनिल शर्मा ने टाइम कीपर, सुरेंद्र सिंह और विमला देवी ने स्कोरर की भूमिका निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!