मंडी

तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. राम लाल मारकंडा ने किया आईटीआई जोगिन्दर नगर का दौरा

कहा स्ट्राईव स्कीम के तहत जोगिन्दर नगर आईटीआई में शुरू करेंगे दो नए कोर्स

(जोगिन्दर नगर)क्रांति सूद

तकनीकी शिक्षा, व्यावसायिक व औद्योगिक प्रशिक्षण, जनजातीय विकास, सूचना प्रौद्योगिकी एवं लोक शिकायत निवारण मंत्री डॉ. राम लाल मारकंडा ने आज औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) जोगिन्दर नगर स्थित डोहग का दौरा कर पूरे परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान आईटीआई परिसर में प्रशिक्षण व शिक्षण के लिए उपलब्ध आधारभूत ढंाचे के साथ-साथ पूरे परिसर का जायजा लिया। उन्होने संस्थान के उत्थान के लिए कई अहम सुझाव भी दिये। इस मौके पर संस्थान के प्रधानाचार्य तनुज शर्मा एवं समस्त स्टॉफ के साथ-साथ जोगिन्दर नगर भाजपा मंडलाध्यक्ष पंकज जंबाल भी मौजूद रहे।

इस बारे जानकारी देते हुए संस्थान के प्रधानाचार्य तनुज शर्मा ने बताया कि तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. राम लाल मारकंडा ने इस दौरान कहा कि जोगिन्दर नगर आईटीआई में स्ट्राईव (स्किल स्ट्रेंथनिंग फॉर इंडस्ट्रीयल वेल्यु एनहांसमेंट) स्कीम के अंतर्गत हास्पिटेलिटी एवं इंजीनियरिंग ट्रेड में दो नए कोर्स शुरू करने के प्रयास किये जाएंगे। उन्होने बताया कि स्ट्राईव स्कीम के तहत विश्व बैंक ने देश की 500 आईटीआई में आधारभूत ढंाचे कीमजबूती को अनुदान प्रदान किया है, जिसमें हिमाचल प्रदेश की 19 आईटीआई में से जोगिन्दर नगर आईटीआई भी शामिल है। उन्होने कहा कि आने वाले समय में इन दोनों पाठयक्रमों को संस्थान में शुरू करने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा ताकि इस क्षेत्र के युवाओं को इन दो नए पाठयक्रमों का लाभ मिल सके।

उन्होने संस्थान प्रबंधन को महिला उत्थान एवं सशक्तिकरण की दिशा में तकनीकी शिक्षा की अहम भूमिका की जानकारी देते हुए उन्हे मुख्य मंत्री स्वावलंबन योजना से जोडऩे पर बल दिया। साथ ही जोगिन्दर नगर आईटीआई परिसर में प्रशिक्षणार्थियों की सुविधा के लिए छात्रावास निर्मित करने का भी आश्वासन दिया।

डॉ. राम लाल मारकंडा ने संस्थान के उत्थान की दिशा में संस्थान प्रबंधन को हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम (एचपीकेवीएन) तथा प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) द्वारा चलाए जा रहे व्यवसायों म्में ज्यादा से ज्यादा स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित बनाने पर भी बल दिया। इस दौरान उन्होने कोविड-19 के दौरान गत वर्ष लगे लॉकडाउन के समय संस्थान की छात्राओं द्वारा मास्क बनाने के प्रयासों की सराहना की तथा शिक्षकों व छात्रों से समाज निर्माण की दिशा में कार्य करने का भी आहवान किया। साथ ही संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया, स्टेंड अप तथा स्टॉर्ट अप के बारे में प्रेरित करने तथा स्वरोजगार अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने का भी सुझाव दिया।

इस बीच संस्थान के प्रधानाचार्य तनुज शर्मा ने तकनीकी मंत्री को अवगत करवाया कि संस्थान से गत वर्ष प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके 250 विद्यार्थियों में से 150 को विभिन्न औद्योगिक इकाईयों में रोजगार उपलब्ध करवाया गया है। साथ ही बताया कि आने वाले समय में भी विभिन्न औद्योगिक इकाईयों द्वारा कैंपस साक्षात्कार का आयोजन होने जा रहा है। इसके अतिरिक्त संस्थान में छात्रों की सुविधा के लिए संस्थान द्वारा उपलब्ध करवाये जा रहे विभिन्न रोजगार के अवसरों बारे भी विस्तृत जानकारी दी।

इस अवसर पर संस्थान के प्रधानाचार्य के अतिरिक्त अन्य स्टॉफ जिसमें पवन कुमार, निर्मला देवी, रीता पटियाल, ममता शर्मा, सुनीता देवी, सोनिया शर्मा, लव कुमार, प्रियंका कुमारी, संजीव कुमार, संजीव कुमार, मोनिका, वीरेंद्र पाल, कृतिका, मधु वर्मा, अच्छर सिंह, सुभाष कुमार आदि भी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!