राज्य विद्युत उत्पादन बोर्ड करेगा लारजी में स्नानाघाट का पुनर्निर्माण

 

स्वतंत्र हिमाचल
प्रेम सागर चौधरी (बंजार)

आज हिमाचल प्रदेश विधानसभा बजट सत्र के दौरान बंजार विधायक सुरेन्द्र शौरी के सवाल का जवाब देते हुए ऊर्जा मंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि लारजी में तीर्थन, सैंज नाला व ब्यास नदी के त्रिवेणी संगम पर स्थित सांस्कृतिक धरोहर देव बड़ा छ्माहूँ के स्नानाघाट का पुनर्निर्माण किया जाएगा। बर्ष 2006 में लारजी जल विद्युत परियोजना के निर्माण के साथ ही बांध में जल भराव से सांस्कृतिक महत्व का यह स्नानाघाट जलमग्न हो गया था। तब से लेकर अस्थाई रूप से इस स्नानाघाट का निर्माण किया जाता रहा है व इस्तेमाल में लाया जा रहा है। पीढ़ी दर पीढ़ी बंजार व सैंज घाटी के लोग इस त्रिवेणी संगम में अस्थियाँ भी प्रवाहित करते आए हैं। घाटी के देव बड़ा छ्माहूँ इसी स्थल पर एतिहासिक स्नान करते आए हैं। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य देवी-देवता भी इस त्रिवेणी संगम में स्नान के लिए आते हैं। बीते बर्ष ही बांध के साथ लगती पुरानी सड़क के जीर्णोद्धार व जल क्रीड़ा अवसरंचना के निर्माण के साथ ही ग्रामीणों द्वारा यहाँ स्थाई व व्यव्स्थित स्नानाघाट बनाने की मांग उठाई गई थी। जिसे बंजार के विधायक सुरेन्द्र शौरी ने स्थानीय ग्रामीणों के साथ मिलकर माननीय मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया था। विधायक सुरेन्द्र शौरी ने जानकारी देते हुए कहा कि बांध क्षेत्र होने के कारण व जल भराव से इस स्नानाघाट के निर्माण में जटिलताओं का सामना करना पड़ रहा था। परंतु माननीय मुख्यमंत्री व ऊर्जामंत्री के विशेष संज्ञान लेने के कारण अब विद्युत बोर्ड के उत्पादन अनुभाग द्वारा यह निर्माण व पुनरुत्थान कार्य किया जाएगा। जल्द ही घाटी के लोगों को स्थाई व व्यवस्थित स्नानाघाट उपलब्ध कराया जाएगा। ऊर्जा मंत्री ने सत्र के दौरान इसी गर्मी में इस निर्माण कार्य को शुरु कर पूरा करने की बात कही है। विधायक सुरेन्द्र शौरी ने देव आस्था व सांस्कृतिक महत्व के इस स्थान के पुनर्निर्माण पर विशेष संज्ञान लेने के लिए माननीय मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी व ऊर्जा मंत्री का आभार जताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!