खादी उत्पादों की सेल शाॅप पुनः खुलेगी- पुरूषोतम गुलेरिया

 

उन पिंजाई केंद्र भी पुन स्थापित होगा

 स्पीति के उत्पादों को सेल शाॅप में बेचने की रहेगी प्राथमिकता

स्वतंत्र हिमाचल

लाहौल-स्पीति(तन्जिन वंगज्ञाल रुमबाह)

हिमाचल प्रदेश राज्य खादी एंव ग्रामोद्योग की ओर से काजा में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम का एक दिवसीय जिला स्तरीय जागरूकता शिविर कांफ्रेस में बुधवार को आयोजित किया गया है। इस शिविर में मुख्यातिथि के तौर पर हिमाचल प्रदेश राज्य खादी एंव ग्रामोद्योग के उपाध्यक्ष पुरूषोतम गुलेरिया मौजूद रहे। शिविर का शुभारंभ दीप प्रज्जवल के साथ हुआ। उपाध्यक्ष पुरूषोतम गुलेरिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है। अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है। आज भारत दुनिया भर में शक्तिशाली देश बन चुका है। प्रदेश में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश के हर नागरिक का विकास हो रहा है। इस मौके पर टीएसी सदस्य पालजोर ने स्पीति के भीतर चल रही योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी रखी। शिविर में लोगों ने बोर्ड के अधिकारियों से योजनाओं के बारे में सवाल भी पूछे। इस मौके पर तान्पा ज्ञालसन, संडुप जिला परिषद सदस्य तोद जोन,मोना देवी जिला परिषद सदस्य, सोनम जेइ, लोबजंग शाखा प्रबंधक केसीसी बैंक, छेरिंग तेंजिन एसबीआइ मैनेजर, ग्राम पंचायतों के प्रधान व स्थानीय लोग मौजूद रहे। हिमाचल प्रदेश खादी एंव ग्रामोद्योग के उपाध्यक्ष पुरूषोतम गुलेरिया ने बेरोजगार युवाओं एंव युवतियों से आहवाहन किया कि अपने घर द्वार पर सूक्ष्म कुटीर उद्यम स्थापित करने का प्रयास करें और अन्य लोगों को रोजगार देने का प्रयास करें।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत जनजातीय क्षेत्रों में लाभार्थियों को कुल परियोजना लागत का 95 प्रतिशत बैंक ऋण के रूप जाता व लाभार्थी का भागधन 5 प्रतिशत होता है। इस परियोजना लागत पर सब्सीडी के तौर पर लाभार्थियों को प्रदान की जाती हैै। इस वर्ष को प्रदेश में टारगेट 435 यूनिट लगाने का लक्ष्य रखा गया था कि लेकिन 29 मार्च 2022 शाम पांच बजे तक तक 447 यूनिट स्थापित कर चुके है। जबकि दो दिनों में करीब 40 और यूनिट स्थापित होने संभावना है। इस वर्ष 103 प्रतिशत लक्ष्य पूरा किया गया जबकि बीते वर्ष 102 प्रतिशत लक्ष्य हासिल किया गया था। इस मौके पर उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि काजा में खादी उत्पादों की सेल शाॅप पुनः स्थापित की जाएगी। यहां पर स्पीति के उत्पादों को बेचने की प्राथमिकता रहेगी। इसके लिए जल्द ही आउटसोर्सिंग पर पद भरें जाएंगे। इसके साथ ही काजा में उन पिजांई केंद्र भी पुनः खोला जाएगा। एडीसी काजा अभिषेक वर्मा ने कहा कि स्पीति में स्वरोजगार की अपार संभावनाएं है। प्रदेश और केंद्र सरकार की ओर से अनेको योजनाएं चलाई जा रही है। हमें जिदंगी में रिस्क लेने की आदत डालनी चाहिए। तभी हम लीक से हटकर कुछ आयाम स्थापित कर सकते है। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी संजीव जस्टा ने जानकारी रखते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश खादी एंव ग्रामोद्योग बोर्ड के तहत खनिज आधारित उद्योग, वनधारित उद्योग, कृषि आधारित और खाद्य उद्योग, बहुलक और रसायन आधारित उद्योग, इंजीनिरिंग और गैर परम्परागत उर्जा, वस्त्रोध्योग खादी को छोड़कर, सेवा उद्योग, आदि में सहायता प्रदान कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!