सैंज प्रोजेक्ट ने भरा प्रदेश सरकार का खजाना

 

1710 मिलियन यूनिट बिजली के साथ 500 करोड़ की कमाई

चार साल के कार्यकाल में हासिल की बड़ी उपलब्धि

संकट काल में सरकार को मिली संजीवनी

स्वतंत्र हिमाचल
प्रेम सागर चौधरी (सैंज)

देश में घाटे का सौदा साबित हो रहे उर्जा सेक्टर में प्रदेश सरकार के प्रतिष्ठित सौ मेगा वाट के सैंज हाइड्रो प्रोजेक्ट ने देश की नवरत्न पावर कंपनियों को पछाड़कर राज्य सरकार के सीने पर तमगा जड़ दिया है।सैंज मैं बहने वाली पिन पार्वती नदी से बनी बिजली को देश की बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने अपनी ओर आकर्षित कर लिया है। ओपन मार्केट में बिजली बेचने वाला प्रदेश पावर निगम का सैंज प्रोजेक्ट देश का पहला बिजली प्रोजेक्ट बन कर ऊर्जा क्षेत्र में बहुत आगे बढ़ चुका है। लिहाजा पावर निगम के इस प्रोजेक्ट ने जहां प्रदेश सरकार का खजाना भर लिया है, वहीं प्रदेश सरकार इसे भविष्य के लिए शुभ संकेत मान रही है। तो ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने परियोजना प्रबंधन को बाकायदा बधाई संदेश भेजा है। भले ही ऊर्जा राज्य हिमाचल में पावर सेक्टर घाटे का सौदा साबित हो रहा है, लेकिन बावजूद इसके सैंज प्रोजेक्ट में पावर बूम आया है। प्रदेश पावर निगम के मुख्यालय शिमला से मिली जानकारी के अनुसार सैंज हाइड्रो प्रोजेक्ट की बिजली ने ,500 करोड की कमाई का आंकड़ा पार कर लिया है और प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई दी है। कर्ज के तले दबे राज्य की आर्थिकी को किसी संजीवनी की तलाश है , ऐसे में सौ मेगा वाट का सैंज प्रोजेक्ट राज्य की आर्थिकी का प्रमुख प्रोजेक्ट माना जा रहा है। प्रदेश पावर निगम के इस प्रोजेक्ट ने चार वर्ष के कार्यकाल में अपने नाम पर बेमिसाल उपलब्धि हासिल की है और 500 करोड़ के क्लब में शामिल हुआ है।

उल्लेखनीय है कि पावर निगम द्वारा बनाए गए इस हाइड्रो प्रोजेक्ट के राजस्व से ऊर्जा सेक्टर राज्य की आमदनी में भारी इजाफा होने का अनुमान है। सैंज हाइड्रो प्रोजेक्ट के प्रदेश पावर निगम के मुख्य अभियंता (विद्युत )रोहित शारदा ने बताया कि हर मौसम में सैंज प्रोजेक्ट के केचमेंट एरिया में बारिश से नदी में पानी की आवक बढ़ने से टरबाइनों ने भी लगातार रफ्तार पकड़े रखी और नदी की निर्मल लहरें भी प्रति वर्ष अनुकूल वही, जिसके चलते हर वर्ष पावर निगम ने अपना लक्ष्य पूरा किया है। उन्होंने बताया कि सैंज जल विद्युत परियोजना ने अभी तक 500 करोड का शुद्ध मुनाफा कमाया है जबकि 1710 मिलियन यूनिट बिजली पैदा की जा चुकी है।सैंज प्रोजेक्ट के प्रशासनिक अधिकारी अनूप गौतम की माने तो हाइड्रो प्रोजेक्ट के प्रबंधन वर्ग में खुशी का माहौल है। बहर हाल संकटकाल में प्रदेश पावर निगम के सैंज प्रोजेक्ट ने प्रदेश सरकार का खजाना भर लिया है।

 

सैंज प्रोजेक्ट के अधिकारियों, कर्मचारियों, व प्रबंधन वर्ग की कड़ी मेहनत, लगन, व प्रयासों से प्रोजेक्ट ने सरकार का सपना साकार करने में अहम भूमिका निभाई है मैं इन्हें हार्दिक रूप से बधाई देता हूं।
– सुखराम चौधरी ऊर्जा मंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!