मंडी

डॉक्टर नहीं,मरीज राम भरोसे

दो लाख लोग निर्भर है सरकाघाट नागरिक अस्पताल पर,फ़र्स्ट रेफ़रल यूनिट का दर्जा है प्राप्त

(सरकाघाट)रितेश चौहान

4 विधानसभा क्षेत्रों की दो लाख आबादी को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने वाला सरकाघाट नागरिक अस्पताल लोगों के लिए जी का जंजाल बन गया है अस्पताल को फर्स्ट रेफर यूनिट का दर्जा भी प्राप्त है परंतु विशेषज्ञो डाक्टरों के अभाव में अस्पताल मात्र रेफरल अस्पताल बनकर रह गया है l हालाँकि प्रदेश सरकार द्वारा यहाँ पर आधुनिक सुविधा मुहेया करवाने की घोषणा की थी जो 3 सालों में ही दम तोड़ चुकी है l डाक्टरों की नियुक्ति को लेकर सामाजिक संस्थाएं कई बार धरने प्रदर्शन से लेकर सरकार को ज्ञापन भेज चुकी है बावजूद आज तक सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग सकी है l अब कांग्रेस सहित कई सामाजिक संस्थाओं ने 1 माह का अल्टीमेटम देते हुए धरने प्रदर्शन की धमकी दी है l

रोजाना है 600 की ओपीडी

नागरिक अस्पताल सरकाघाट में प्रतिदिन 500 सौ से 600 सौ लोग स्वास्थय जांच के लिए आते  है कई बार संख्या इससे भी ज्यादा पहुंच जाती है l इस लिहाज से यहां डॉक्टर के 30 पद होने चाहिए l मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के अनुसार एक डॉक्टर दिन में 20 से 25 मरीज ही चेक कर सकता है लेकिन यहां ऐसा नहीं होता है l
यहां  विशेशज्ञ डॉक्टरों की कमी के चलते लोगों को मजबूरन मंडी, नेरचॉक ,  हमीरपुर या टांडा रूख करना  पड रहा है जिससे सवसे ज्यादा गरीव जनता को मार पड रही है l हालाकिं   इस अस्पताल में कहने को तो डॉक्टरों की संख्यां करीव एक दर्जन है  परंतु प्रशिक्षु डॉक्टरों द्वारा अस्पताल की मर्ज पकड़ी नहीं जा रही है l

महत्वपूर्ण पद है खाली

नागरिक अस्पताल में विशेषज्ञ डाक्टरों की भारी कमी है l यहां पर गायनी, ईएनटी, ऑर्थों, मैडिसियन,और सर्जन तो कई वर्षो नहीं है ऐसी हालात में मामूली हड्डी टूटने या थोड़ी सी चीड़ फाड़ को लेकर भी एन वक्त पर मरीजों को यहां से रेफ़र ही किया जाता है l जिससे उन्हें भारी असुविधाओं का सामना करना पड़ता है l साथ ही उन्हें आर्थिक रूप से भी परेशानी उठाना पड़ती है l हैरानी इस बात की है कि स्थानियां लोगों द्वारा एक वार नहीं बल्कि वार वार स्वास्थय विभाग से लेकर भाजपा विधायक और मुख्यमंत्री तक के पास अपनी आवाज बुलंद कर चूके है l लेकिन किसी के  कान पर जूं तक नहीं रेंगती है और समस्या जस की तस वनी हुई है । लोगों का कहना है कि पहले इस अस्पताल में सभी विशेशज्ञ डॉक्टर होते थे, मगर अब यहां पर विशेशज्ञ डॉक्टर  न के वरावर  है।

फ़ार्मासिस्ट के भी पद रिक्त

जहां इस अस्पताल में 14-15 डॉक्टर  प्रतिदिन पांच सौ मरीजों की स्वास्थय जांच करते है , वहीं उन मरीजों को मात्र तीन ही फार्मासिस्ट दवाई देते है और  यही रिकार्ड को ऑन लाईन भी करते है तथा दूसरी जगह भी सेवाएं देते है l वर्तमान समय मे वढती मरीजो की संख्या को मध्य नजर रखते हुए करीव पांच फार्मासिस्टो के अलावा गायनी, सर्जन ,मैडिशियन ,इएनटी,ऑर्थो विशेषज्ञ डॉक्टरों की अति आवश्यक्ता हैं

जनता कर रही है माँग

जिला परिषद सदस्य चंद्र मोहन एवं शर्मा मनीश शर्मा, ,हमारी आवाज़ संस्था के अध्यक्ष डॉक्टर सुनील शर्मा दिव्यांग कल्याण संघ के अ‌ध्यक्ष हरिदास प्रजापति, पूर्व सैनिक लीग के उपाध्यक्ष कश्मीर सिंह, प्रदेश भाजपा के आईटी सदस्य विनय राणा सामाजिक कार्यकर्ता सुनील शर्मा नगर परिषद केपूर्व उपाध्यक्ष राजेश कौंडल अश्वनी गुलेरिया सहित सरकार से जल्द से जल्द सरकाघाट अस्पताल में सभी  विशेशज्ञ डॉक्टर और  अतिरिक्त फार्मासिस्टों की नियुक्त करने कीj गुहार लगाई है।

सरकार को भेज दी है सूचना: प्रभारी

अस्पताल प्रभारी डॉ पन्नालाल ने कहा की डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों को लेकर सरकार को समय समय पर सूचना भेज दी जाती है l कम डॉक्टर होनें बाद भी यहाँ कार्यरत मेडिकल स्टाफ़ द्वारा बेहतर सुविधाएँ प्रदान की जा रही है l

सरकार कर रही जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ : सचिन वर्मा

सरकाघाट कांग्रेस मंडल अध्यक्ष एवं कोट वार्ड के पूर्व जिला परिषद सदस्य सचिन वर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार स्वास्थ्य के नाम पर सरकाघाट की जनता के स्वास्थय से खिलवाड़ कर रही है l सरकाघाट उपमंडल के किसी भी अस्पताल में विशेषज्ञ डॉक्टर तैनात नहीं है एंन टाइम मरीजों को रेफ़र करके उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है l विधायक अस्पतालों में रिक्त पद भरने के बजाय तबादला उद्योग चला रहे हैं l अगर 1 महीने के भीतर विशेषज्ञ डॉक्टरों के पद नहीं भरे गए तो कांग्रेस सड़कों पर उतर कर धरने प्रदर्शन करेगी l

सरकार कर रही है पूरे प्रयास: कर्नल

भाजपा विधायक कर्नल इन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश भर में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी चल रही है l जैसे ही मेडिकल कॉलेजों से नए डॉक्टर आ रहे हैं वैसे ही अस्पतालों में रिक्त पद भरे जा रहे हैं l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!