जम्मू कश्मीर

मूर्ति स्थापना दिवस पर कार्यक्रम,गुरु के बताए मार्ग पर चलने के लिए किया प्रेरित

स्वतंत्र हिमाचल

(जम्मू कश्मीर)  अनिल भारद्वाज

संत शिरोमणि गुरु रविदास जी की 644वीं जयंती के उपलक्ष्य व राजौरी फलयाना में 9वां गुरु मूर्ति स्थापना दिवस का वार्षिक कार्यक्रम गुरुद्वारा फलयाना में आयोजित किया गया जिसमें स्वामी गुरदीप गिरी जी महाराज पठानकोट बालों ने गुरु के द्वारा बताए मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया व भाईचारे का संदेश दिया और हजारों की संख्या में पहुंची संगत को आशीर्वाद दिया । इस मौके पर विशाल लंगर भंडारे का आयोजन किया गया । महाराज जी बाहरी राज्यों में आयोजित कार्यक्रम के उपरांत राजौरी कार्यक्रम में पहुंच संगत को अमृतवाणी से निहाल किया ।


स्वामी गुरदीप गिरी जी महाराज ने संगत को निहाल करते हुए कहा कि आज जो भी माहमारी फैल रही है उसका मनुष्य ही जिम्मेदार है। सबकुछ भगवान के हाथ मे ही है। हमारी दुखों का कारण अज्ञानता है। नशे के बदबू ने घर परिवार ही खत्म कर दिए हैं।
समाज मे फैल रही गलत कुरीतियों को दूर करना है। परमात्मा से जुड़ें । मनको अंदर से साफ करें । अपने बच्चों को शिक्षा का उच्च ज्ञान दिलाएं। स्वामी जी ने कहा कि मानव जीवन को तमाम धार्मिक ग्रंथों में सबसे उत्तम कहा गया है । यह जीवन मनुष्य को परमात्मा की प्राप्ति के लिए मिला हुआ है और परमात्मा से मिलने का जरिया सतगुरु होता है। सत्संग राहुनियत की पाठशाला है। उन्होंने कहा कि युग-युगों से संत महात्माओं को पूर्ण सतगुरु से ज्ञान प्राप्त करके ही अपने जीवन के उद्देश्य को पूरा किया है । इंसान अपनी अज्ञानता के कारण भोग विलास अथवा संसार की माया में इस कदर से लिखते है कि वह आध्यात्मिकता का रास्ता नहीं अपनाना चाहता। उन्होंने कहा कि इंसान अपना सारा समय माया में रहकर व्यतीत कर देता है , लेकिन गुरु के ज्ञान को नहीं समझ पाता ।

उन्होंने गुरू के जरिए प्रभू को जानने के लिए संगत को प्रेरित किया । अंत में उन्होंने संगत को सतगुरू रविदास जी महाराज के बताए मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया और भाईचारे का संदेश दिया। इस मौके पर प्रदेश के अलग अलग जिलों सहित सीमावर्ती क्षेत्रों से आई हजारों की संख्या में पहुंची संगत ने माथा टेक आशिर्वाद प्राप्त किया और संगत के लिए विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। इस मौके पर जिला अध्यक्ष (रिटायर्ड असिस्टेंट डायरेक्टर) केवल कृष्ण व पाठी जय प्रकाश ने भी संगत को गुरु जी के बताए रास्ते पर चलने के लिए प्रेरित किया। योगराज, डा. गारू, रिटायर्ड जेडईओ चमन लाल अन्य अधिकारियों के साथ युवा संगठन के सदस्य व हज़ारों की संगत के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम , सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस तैनात थी ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!