लाहौल स्पीति

 इंडियन आइस हाॅकी एसोसियेशन द्वारा आयोजित कैंप में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को किया सम्मानित

 

स्वतंत्र हिमाचल

(लाहौल-स्पीति)तन्जिन वंगज्ञाल

कोरोना कालखंड में पिछले वर्ष बैहद चुनोतीपूर्ण रहा ‌। गोरतलब है कि इस बार नया वर्ष नया दशक में गणतंत्र पर्व बैहद खास तौर से मनाया गया। हर वर्ष की भांति इस बार भी गणतंत्र पर्व काजा प्रशासन द्वारा आयोजित किया गया। छब्बीस जनवरी के अवसर पर बतौर मुख्यातिथि एडीएम ज्ञान सागर नेगी ने शिरकत की और ध्वजारोहण किया। इसके बाद राष्ट्रगान स्कूली छात्राओं की ओर से पेश किया गया। मुख्यातिथि एडीएम ज्ञान सागर नेगी ने कहा कि देश के आजाद होने के बाद 26 जनवरी को संविधान देश में लागू किया गया था। हमारा संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लचीला संविधान है।

भारत की आजादी में भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार वल्लभ पटेल, लाल बहादुर शास्त्री आदि महान विभूतियां ने भारत के बेहतर भविष्य की नींव रखी थी। डा भीवराव अंबेडकर संविधान प्रारूप समिति के अध्यक्ष थे। उन्होंने देश को ऐसे संविधान को दिया है जिनसे नागरिक का सर्वागीण विकास हो रहा है। आज भारत दुनिया में पहचान बनाए हुए है । हमें अपने देश को को आगे लेकर जाना है। कार्यक्रम में रंगारंग प्रस्तुतियां भी दी गई।

मुख्यातिथि ने इस मौके पर स्पिति के सिंतबर 2018 में शहीद हुए सैनिक रिगजिन दोरजे की पत्नी कलजंग डोलमा को मुख्यातिथि ने सम्मानित किया। इसके साथ ही विभिन्न कलाकारों और कर्मचारियों का सम्मानित भी किया। इस मौके पर एसडीएम काजा जीवन सिंह नेगी, डीएसपी सुंशात शर्मा, नायब तहसीलदार विद्या सिंह नेगी, टीएसी सदस्य लोबजंग, बीडीसी सदस्य, प्रधान उप प्रधान व स्थानीय लोग मौजूद रहे।


इन्होंने दी प्रस्तुति

काजा पब्लिक स्कूल की टीम ने स्पिति नृत्य, बांकित ने भाषण, मुन्सलिंग स्कूल ने थीमेटिक डांस, रावमापा काजा के छात्र थिमले नामज्ञाल ने भाषण, मटका फोड़ प्रतियोगिता, पदमा ज्ञायलसन ने बेस्ट्रन डांस, रावमापा काजा की छात्राओं द्वारा राजस्थानी नृत्य व लोहाली नृत्य पेश किया। मुन्सलिंग स्कूल के छात्रों ने पहाड़ी नृत्य प्रस्तुत किया। स्पिति डयांग के विजेता सेलेश ने संदेश आते है गाना गाया। लिदांग महिला मंडल ने लोक नृत्य पेश किया। राजकीय माध्यमिक पाठशाला शेगो की छात्र अंगरू जांग्मो ने कविता पढ़ी।

इन्हें किया गया सम्मानित

सलामी देने वाली पुलिस टुकड़ी के पुलिस कर्मियों को भी सम्मानित किया गया। इसके साथ ई, संजीवन को उनके शिक्षा के क्षेत्र में लाकडाउन के दौरान बच्चों को पढ़ाने के लिए पुरस्कार दिया गया। इसके साथ ही 17 जनवरी की मध्यरात्रि को रावमापा काजा में आग पर काबू पाने के लिए डिकित डोलमा, छेरिंग लोटे, शार्प दोरजे, नवांग सोनम, यीशे छोडन, थिले नोरजोम, कालजंग आग्मो, छेरिंग पालजोर और पदमा दोरजे को सम्मानित किया गया।

इंडियन आइस हाॅकी एसोसियेशन द्वारा आयोजित नेशनल आईस हाॅकी डिव्लेपमेंट कैंप में हिस्से लेने वाले सात बच्चे कुंगा बांग्पो, टाकपा यीशे, तेजिंन जांग्मो, तंडुप ज्ञायलसन, सोनम दोरजे, सोनम बांगचुक और तेजिंन योटेंन को भी पुरस्कार दिया गया।

आईस हाॅकी सिखाने वाले कोच नवांग लोटे, छुलडिंग तेंजिन, सोनम टाकपा, छुइंग दोरजे, केसंग पदमा, छोजम, केसेंग दिकित और सोनम को भी सम्मानित किया गया। पेयर डांस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर जांगछुट, द्वितीय स्थान पर ज्ञालसन और तृतीय स्थान पर सोनम अंगरूप को पुरस्कार दिया। मटका फोड़ में प्रियंका ठाकुर विजेता रहीं।

म्यूजिकल चेयर में छेरिंग डिकित विजेता रही। स्पून रेस की ब्याॅज श्रेणी में टाशी प्रथम, सोनम तंडुप, सूजल नेगी तृतीय स्थान विजेता रहीं। गर्ल श्रेणी में थिले वाग्मों प्रथम, नवांग चिजोम द्वितीय और दिया ठाकुर तृतीय स्थान रहा। इन्हें भी मुख्यातिथि ने सम्मानित किया गया। इसके अलावा सभी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देने वाले कलाकारों को भी पुरस्कार दिए गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!