लोगों के घर गिरने की कगार पर,किराए के मकान में रहने को मजबूर  

स्वतंत्र हिमाचल

(लड़भडोल)लक्की शर्मा

 

लांगणा पंचायत में आज भी ऐसे कई परिवार ऐसे हैं जो किराए पर रह रहे हैं तथा कुछ लोगों के घरों में दरारें पड़ चुकी है और गिरने की कगार में है | हर बार जनप्रतिनिधि इन लोगों से वोट लेकर तो चले जाते हैं लेकिन इनकी सुध लेना भूल जाते हैं | हालांकि सरकार द्वारा ऐसे बेघर परिवारों को मकान बनाने के लिए सहायता राशि भी दी जाती है लेकिन वह भी इन गरीबों तक नहीं पहुंच पा रही है | इस पंचायत के बन गांव सहित अन्य गांवों में भी कुछ परिवार ऐसे हैं जो कच्चे मकानों , जिनमें दरारें भी आ चुकी है तथा कभी भी गिर सकते हैं , में रहने को मजबूर हैं |

द्रुमति देवी , संजय कुमार , प्रकाश चन्द ,रिंकू आदि लोगों ने बताया कि पंचायत में आकर कई बार मकान बनाने के लिए सरकार द्वारा दी जा रही सहायता राशि की मांग कर चुके हैं लेकिन अभी तक किसी ने भी इन गरीबों की सुध नहीं ली | पंचायत की कोई भी ऐसी आम सभा नहीं होगी जिसमें इन इन लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज ना करवाई हो

लेकिन आज दिन तक कभी भी ना तो इनका नाम लिस्ट में आया तथा ना ही इनको मकानों की मुरम्मत के लिए शायद कोई सहायता राशि दी गई हो | तथा ना ही लोगों को जानकारी दी जाती है कि कौन सी योजना चली हुई है जिसका वे लाभ उठा सकें | लोगों ने सरकार से मांग की है कि गरीबों को जो मकानों को बनाने के लिए सहायता राशि दी जाती है वह भी ऊंट के मुंह में जीरे के समान है इस महंगाई के दौर में कम से कम पांच लाख की सहायता राशि मिलनी चाहिए |

” प्रधानमंत्री आवास योजना , मुख्यमंत्री आवास योजना तथा तहसील कल्याण अधिकारी के माध्यम से लोगों को मकान बनाने की सहायता राशि दी जाती है |”
विनोद कुमार – सचिव लांगणा पंचायत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!