आगज़नी के तीन सप्ताह बाद भी मंत्री को नही मिला प्रभावितों से मिलनें का समय : चंद्रशेखर

 

राहत देनें के बजाए प्रशासन भी मंत्री परिवार की चाकरी करने में रहा वयस्त

(सरकाघाट)रितेश चौहान

बनाल पंचायत के डिडणू गांव में चार कमरों की गऊशाला और बनेरढी पंचायत के झरेडा गांव में पांच कमरों का मकान आगजनी की भेंट चढ गया l हैरानी इस बात की है कि तीन सप्ताह बीतने बाद भी स्थानीय विधायक महेंद्र सिंह ठाकुर जो खुद प्रदेश सरकार के राजस्व सहित तीन अन्य विभागों के कबीना मंत्री है l ना तो उन्हें मौके पर जाने का समय मिला और ना ही धरमपुर प्रशासन के मुखिया एसडीएम नायब-तहसीलदार, कानूनगो व पटवारी तक किसी भी अधिकारी ने इस आगजनी का मौका कर वहां पर जाने की ज़हमत उठाई। यह आरोप प्रदेश कांग्रेस सचिव एवं पूर्व हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास निगम के उपाध्यक्ष चंद्रशेखर ने प्रभावित गांव का दौरा करने के बाद लगाए हैं l


उन्होंने कहा कि राहत के नाम इन परिवारों को ऊंट के मुहं में जीरा भी नसीब नहीं हुआ है जबकि झरेडा गांव की घटना में तो इस परिवार के पास इस लाकडाऊन और आगजनी में अनाज राशन तक जलकर खाक हो गया है।
धर्मपुर प्रशासन मात्र मंत्री परिवार की चाकरी करने तक सीमित रह गया है उनके आगे पीछे की हाजिरी लगाने की होड़ में गरीब और वे सहारा लोगों की सुध को मात्र वोट वैंक की कृपा तक सीमित कर दिया है। धर्मपुर के सत्ताधारी परिवार द्वारा अथाह धन भंडार के एक मात्र छत्रराज को बढाते हुए बडी-बडी और छोटी पाईप लाईनों को बिछाने के टैंडर भी बड़ी बड़ी चुनींदा कंपनियों को जारी किए गए हैं झंडा-डंडा और भीड़ इक्कट्ठी पर मेहनत करने वाले भाजपा के आम कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज कर कोरोना काल में अंडर टेबल के माध्यम से अपने सालों और भतीजों को खूब काम बांटे गए हैं ।

आउटसोर्स के जरिए ठगी लूट के सहारे बहुत से युवाओं को पानी के महकमे पर 2-3 हजार की नौकरी का झूनझूना देकर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। क्षेत्र में पानी को लेकर हाहाकार पानी की कमी इतने बड़े बजट के खर्च के दौरान जस की तस बनी है। भूर, धलारा, मढी, पैहड, बनेरढी, कुम्हारडा में लोगों को आजकल पीने का पानी तक नसीब नहीं हो रहा है और अगर मिलता भी है तो सप्ताह में एकबार ही लोगों को पानी मिल पा रहा जो कि मंत्री जी के विकास की झूठी व जमीनी कहानी की पोल सरेआम खोल रहा ह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!