आनी

निरमंड के युवामंडल गागनी ने मनाई नेताजी सुभाषचंद्र जयंती

राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवी मदन सांवरिया ने भी नेता जी सुभाषचंद्र बोस की जीवनी पर डाला प्रकाश

स्वतंत्र हिमाचल
(आनी) विनय गोस्वामी

 

नेहरू युवा केंद्र कुल्लू एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के सौजन्य से विकासखंड निरमंड में ग्रामपंचायत कोट के युवा मंडल गागनी ने एक दिवसीय पराक्रम दिवस नेता जी सुभाष चन्द्र बोस जयंती का आयोजन किया गया, जिसमें बतौर मुख्य अतिथि तारा चंद कौशल सेवानिर्वित बीपीओ ने शिरकत की व रिसोर्स पर्सन के तौर पर लायक राम बीएसई मौजूद रहे ।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा के पास द्वीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया,तदोपरांत मुख्य अतिथि ने सम्बोधित करते हुए कहा कि नेता जी सुभाष चन्द्र बोस भारत के स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी और देश के सबसे बड़े नेता थे । सन् 1939 से 1944 तक द्वितीय विश्व युद्ध में वे 11 बार जेल गए ।

इसी दौरान वे एक बार जेल से भाग कर जापान में अंग्रेज़ो के खिलाफ भारत को आजादी के बाद आज़ाद हिन्द फौज की स्थापना की। तारा चंद कौशल ने कहा कि सही मायने में नेता वो होता है जो सबको संगठित करके सबको साथ लेकर चले नेता जी ऐसे ही कैप्टन थे।

नेता जी के स्लोगन आज भी हमारे लिए प्रेरणा के स्त्रोत हैं।

तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा, जय हिन्द, स्लोगन नेता जी सुभाष चन्द्र बोस ने दिए हैं, वहीं राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवी मदन सांवरिया ने भी नेता जी की जीवनी पर प्रकाश डाला और नेहरू युवा केंद्र संगठन की योजनाओं की विस्तृत जानकारी साझा की।कार्यक्रम में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिता करवाई गई।

जिसमें भाषण प्रतियोगिता,चित्रकला ,स्लोगन,निबंध लेखन प्रतियोगिता आयोजित की गई। भाषण में सोनिया प्रथम, पूजा कुमारी द्वितीय , चित्रकला में सपना प्रथम, सुजल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया।प्रतियोगिता में निर्णायक मंडल की भूमिका बी. एस. ई. लायक राम ने निभाई।

इस मौके पर युवा मंडल गागनी के प्रधान ओम प्रकाश सचिव मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!