डेढ़ महीने से नगरपरिषद बिना अध्यक्ष के

 

करोड़ों रुपए के विकास कार्यों को लगा विराम

(सरकाघाट)रितेश चौहान

सरकाघाट नगरपरिषद के अध्यक्ष के विरुद्ध करीब दो महीने पूर्व सात में से छः पार्षदों ने तत्कालीन अध्यक्ष अनूपकुमारी के विरुद्ध ज़िलाधीश मंडी को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर अविश्वास प्रस्ताव दिया था और ज़िलाधीश ने एस डी एम को निर्देश दिया था कि वे एक महीने में अविश्वास प्रस्ताव की सभी पार्षदों को अपने कार्यालय में बुलाकर अविश्वास प्रस्ताव पर मोहर लगा दें। और सभी छः पार्षदों ने तत्कालीन अध्यक्ष को हटाने का प्रस्ताव पारित कर दिया था।

लेकिन एक तो पार्षदों को बुलाने में ही एक महीने से ज्यादा समय लग गया और जब अविश्वास प्रस्ताव ध्वनि मत से पारित हो गया तो नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए और एक महीने का समय दिया गया और अभी तक एस डी एम राहुल जैन द्वारा नए अध्यक्ष का चुनाव नही हो पाया है।हालांकि आज वित्तिय वर्ष भी समाप्त हो गया और करोड़ों रुपए के विकास कार्यों को विराम लग गया है। मुख्य बाज़ार में बन रहे पार्क का निर्माण कार्य भी रुक गया है और नालों व खड्डों का तटीय करन भी नहीं हुआ है।यहाँ तक कि यदि किसी बिजली के खम्भे पर लगा बल्ब फ्यूज हो गया है तो उसे भी नहीं लगाया गया है। नगरपरिषद अश्वनी गुलेरिया राजेश कौंडल रणजीत सिंह विनोद वर्मा संजय शर्मा निवासियों रामलाल नेकराम,अरुणकुमार, भीमसिंह, रूपलाल,मोहनलाल सहित अनेक लोगों द्वारा एस डी एम से शीघ्र नगरपरिषद के अध्यक्ष पद का चुनाव करवाने का अनुरोध किया है।इस बारे जब एस डी एम राहुल जैन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि निर्धारित समय पर अध्यक्ष पद के लिए चुनाव करवा दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!