मंडी

किसान विरोधी कानून वापस ले मोदी सरकार : गोपाल कृष्ण

एसडीएम करसोग के माध्यम से संयुक्त किसान मोर्चा ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

 

 

स्वतंत्र हिमाचल

(चुराग) राज ठाकुर

आज करसोग में संयुक्त किसान मोर्चा ने केन्द्र सरकार के खिलाफ खुलकर नारे बाजी की और हाल ही में पास तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए आवाज़ बुलंद की। इस मोर्चे को संबोधित करते हुए युवा नेता व एडवोकेट गोपाल कृष्ण ने कहा कि केन्द्र सरकार मनमाने ढंग से कार्य कर रही है और जनता को बेवजह परेशान कर रही है।

हम महामहिम राष्ट्रपति को एसडीएम करसोग के माध्यम से एक ज्ञापन भेज कर माँग करते हैं कि केन्द्र सरकार जनता पर थोंपे गये तीनों कृषि कानूनों को वापिस ले और सभी फसलों के लिए गारन्टीड एमएसपी कानून बनाये। प्रस्तावित बिजली संशोधन बिल वापिस लिया जाए। उन्होंने आगे कहा कि सेब का एमएसपी रुपये 50 प्रति किलो तथा दूध का एमएसपी रुपये 40 प्रति लीटर किया जाए। सभी फसलों फल, सब्जियों व अनाज के लिए खरीद केन्द्र खोले जाएं तथा जंगली जानवरों बंदर, सूअर व बेसहारा पशुओं से फसलों को बचाने का प्रबन्ध किया जाए। गौरतलब रहे कि संयुक्त किसान मोर्चा दिल्ली के आसपास व देश के अन्य हिस्सों में कार्यरत है।

इसी कड़ी में संयुक्त किसान मोर्चा करसोग में भी कार्यरत है। एडवोकेट गोपाल कृष्ण ने बताया कि हमारे करसोग क्षेत्र का किसान भी उपरोक्त समस्याओं से उलझ रहा है और हम महामहिम राष्ट्रपति के माध्यम से सरकार के कान तक इन समस्याओं को पहुँचाना चाहते हैं। इस आंदोलन में महाविद्यालय के एसएफआई कार्यकर्ता, पूर्व जिला परिषद् सवा माँहू वार्ड राम लाल व वर्तमान जिला परिषद् महोग वार्ड किशोरी लाल व अन्य नेतागण मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!