अनेकों कल्याणकारी योजनाओं से प्रदेशवासियों का जीवन हुआ खुशहाल-गोविंद ठाकुर

75वें हिमाचल दिवस पर ढालपुर मैदान में फहराया तिरंगा

स्वतंत्र हिमाचल
प्रेम सागर चौधरी (कुल्लू )

केन्द्र और प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को नीतियों केे धरातल पर ईमानदारी के साथ कार्यान्वयन से प्रदेशवासियों के जीवन में खुशहाली आई है। प्रदेश के विकास में यहां के मेहनती और ईमानदार लोगों का भी योगदान है। यह बात शिक्षा व कला, भाषा एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज कुल्लू के ऐतिहासिक ढालपुर मैदान में जिला स्तरीय हिमाचल दिवस समारोह के अवसर पर ध्वजारोहण के उपरांत उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने पुलिस, होम गार्ड, आईटीबीपी तथा एनएसएस की टुकड़ियों द्वारा प्रस्तुत मार्च पास्ट की सलामी भी ली। गोविंद ठाकुर ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार की अधिकांश नीतियों को राज्य में कार्यान्वित करके तथा प्रदेश सरकार की 90 नई योजनाओं को व्यवहारिक रूप से जन-जन तक पहुंचाकर उन्हें लाभान्वित करके राज्य के लोगों का जीवन बेहतर बनाने की कोशिश की है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि गठन के समय हिमाचल प्रदेश में कठिन भौगोलिक परिस्थितियों और संसाधनों की कमी के कारण प्रदेश को विकास की राह पर आगे ले जाना एक बड़ी चुनौती थी। पेयजल, बिजली, सड़क तथा शैक्षणिक व स्वास्थ्य संस्थानों जैसी मूलभूत सुविधाएं नाम मात्र थीं, लेकिन प्रदेश के मेहनती और ईमानदार लोगों ने इन चुनौतियों का सामना करते हुए हिमाचल को एक खुशहाल राज्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आज यह प्रदेश केवल पहाड़ी राज्यों ही नहीं बल्कि देश के अन्य बड़े राज्यों के लिए भी विकास का मॉडल बना है। प्रति व्यक्ति आय, सकल घरेलू उत्पाद, पावर सरपल्स राज्य का दर्जा, पर्यटन विकास, बागवानी और कृषि उत्पादन में व्यापक वृद्धि, साक्षरता दर में देश भर में दूसरा स्थान प्राप्त करना, गांव-गांव तक सड़क तथा घर-घर तक पानी और बिजली की सुविधा जैसे अनेक मानक हैं जो राज्य की प्रगति को दर्शाते हैं। प्रदेश सरकार ने अपनी पहली ही मंत्रिमंडल की बैठक में बिना किसी आय सीमा के वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने की आयु 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष की जिसे अब घटाकर 60 वर्ष कर दिया गया है। इस फ़ैसले से इस साल लगभग एक लाख और लोगों को पेंशन का लाभ मिलेगा। वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल में 2 लाख 21 हज़ार लोगांे को पेंशन स्वीकृत की गई है।


गोविंद ठाकुर ने कहा कि जनमंच तथा मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन लोगों की समस्याओं के समाधान का जबरदस्त विकल्प बनकर सामने आई जहां सरकार के साथ लोगों का सीधा संवाद स्थापित हो सका। मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत प्रदेश के 3 लाख 25 हज़ार परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किये करके प्रदेश को धूआं रहित राज्य बनाया। मुख्यमंत्री शगुन योजना शुरू की, जिसके अंतर्गत बी.पी.एल. परिवारों की बेटियों की शादी के लिए 31 हज़ार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। मुख्यमंत्री हिमाचल हेल्थकेयर योजना-हिमकेयर शुरू की। इसके अंतर्गत एक परिवार के पांच सदस्यों को एक साल में 5 लाख रुपये तक के निःशुल्क ईलाज की सुविधा दी जा रही है। आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवारों के गम्भीर बीमारियों से पीड़ित मरीज़ों के लिए मुख्यमंत्री सहारा योजना शुरू की है। इसके अंतर्गत 3 हज़ार रुपये की मासिक आर्थिक सहायता दी जा रही है। नवम्बर, 2019 में प्रदेश में पहली बार धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्ज़ मीट का आयोजन किया गया, जिसमें 96 हज़ार 721 करोड़ रुपये निवेश वाले 703 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने स्वयं इस सम्मेलन में हमें अपना आशीर्वाद दिया। गोविंद ठाकुर ने कहा कि हमारी सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत प्रदान करते हुए 60 युनिट तक बिजली मुफ़्त करने और 61 से 125 यूनिट तक एक रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली उपलब्ध करवाने का फैसला लिया है। किसानों के लिए बिजली की दर 30 पैसे प्रति यूनिट की गई है। इस फैसले से लगभग 11 लाख घरेलू बिजली उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश का 67 प्रतिशत भू-भाग जंगलों के अधीन है जबकि 33 प्रतिशत में निजी व सरकारी भूमि है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सुंदरता को कायम रखने तथा पर्यावरण को बचाने के लिये जंगलों का सरंक्षण समय की मांग है। गोविंद ठाकुर ने कहा कि जिला में होटल प्रबंधन संस्थान की स्थापना की जाएगी। इसके लिये नग्गर में 40 बीघा भूमि का चयन कर लिया गया है। संस्थान से स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि कुल्लू में अम्रुत योजना के तहत 68 करोड़ की राशि खर्च करके शहर को संुदर बनाया जा रहा है। 415.14 लाख रुपये की लागत से क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू के प्रशासनिक खण्ड का का निर्माण किया गया। 100 बिस्तरों का मातृ एवं शिशु अस्पताल भवन भी बनकर तैयार है। उन्होंने कहा कि कुल्लू में नवोदय विद्यालय तथा सेऊबाग में पॉलिटैैक्निक महाविद्यालय उनकी देन है। इस महाविद्यालय में 21 करोड़ की लागत से अकादमिक ब्लॉक तथा छात्रावास का निर्माण किया जा रहा है। कुल्लू में आधुनिक सुविधाओं से लेस बस अड्डे का निर्माण कार्य 50 करोड़ की लागत से किया गया है। हमने कुल्लू से मनाली तक रिकार्ड समय में एक शानदार सड़क बनाई। पहले जहां डेढ़ से दो घण्टे का समय मनाली पहुंचने में लगता था, अब 35 मिनट में मनाली पहुंच जाते हैं। शमशी में सिटी लाईवलीहुड केन्द्र भवन आवास सहित 3.52 करोड़ से बनाया गया। जिला में रीवर राफटिंग, पैरा ग्लाईडिंग, हैली स्कीं जैसी अनेक साहसी गतिविधियां की जा रही हैं। प्रदेश सरकार इन्हें बढ़ावा देगी ताकि स्थानीय युवाओं को रोजगार के और अधिक अवसर प्राप्त हों। लग घाटी को नई राहें, नई मंजिलें योजना में शामिल किया गया है। मनाली शहर व आस-पास की 15 पंचायतों के लिए लगभग 390 करोड़ की मल निकासी परियोजना का कार्य आंरभ हो चुका है। इससे बहुत बड़ी आबादी लाभान्वित होगी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि बंजार बाईपास सड़क के निर्माण के लिए 7.33 करोड़ रूपए स्वीकृत किए हैं और जल्द यह बाईपास जनता को मिलेगा। लंबे समय की जनता की यह मांग पूरी होगी। बंजार में लगभग तीन करोड़ की लागत से हैलीपैड का निर्माण किया जा रहा है। लारजी झील में हमने वाटर स्पोर्ट्स के लिए अनुमति दी है। अनेक युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। बंजार अस्पताल के नए भवन का काम जोरों पर है। 50 बिस्तरों के इस अस्पताल पर हम 16 करोड़ खर्च कर रहे हैं। आनी और निरमंड नई नगर पंचायतें बनाई और इसके अलावा 11 नई पंचायतें भी आनी विधानसभा क्षेत्र में बनाई। 97 किलोमीटर सैंज-लूहरी-औट राष्ट्रीय उच्च मार्ग 305 का निर्माण किया जाएगा, इसके लिए 1563 करोड़ की राशि स्वीकृत हुई है। जलोड़ी जोत सुरंग की डीपीआर बनाने संबंधी कंसल्टेंसी के लिए 25 करोड़ रुपए के टेंडर आमंत्रित किए गए हैं। इससे पूर्व, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रदेशवासियों के नाम संदेश का प्रसारणएलईडी के माध्यम से ढालपुर मैदान में उपस्थित हजारों लोगों ने देखा। बाद में मंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले व्यक्तियों को सम्मानित भी किया। सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, आईटीआई कुल्लू, क्रिश्चियन नर्सिंग संस्थान कुल्लू, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुलतानपुर, सूर्य सांस्कृतिक दल बनोगी तथा मन्नत कला संगम के कलाकारों ने इस अवसर पर रंगारंग प्रस्तुतियों से दर्शकों का मनोरंजन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!