लाहौल स्पीति

ठोस कचरा प्रबंधन के टॉपिक को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने वाला प्रदेश का पहला जिला बना लाहौल-स्पीति

 

स्वतंत्र हिमाचल

(लाहौल-स्पीति)तन्जिन वंगज्ञाल

सोमवार को राजकीय प्राथमिक पाठशाला के केलांग-1 में, स्कूली पाठ्यक्रम में ‘ठोस कचरा प्रबंधन’ को पाठ्यक्रम में समावेश करने का शुभारंभ किया।
जिला उपायुक्त पंकज रॉय ने कहा कि ठोस कचरा प्रबंधन की आवश्यकता को देखते हुए स्कूली बच्चों को इस विषय में विशेष रूप से जागरूक करने के लिए यह टॉपिक पायलट आधार पर कुछ स्कूलों के स्कूली पाठ्यक्रम में जोड़ा गया है, ताकि स्वच्छता के साथ-साथ ठोस कचरे के प्रबंधन के प्रति छात्र-छात्राओं के माध्यम से हर घर- परिवार को जागरूक किया जा सके।


भविष्य में यहाँ पर्यटकों की संख्या बढ़ने तथा कई प्रकार की व्यवसायिक गतिविधियों के शुरू होने से लाहौल- स्पीति जिले में ठोस कचरा के निदान की समस्या आएगी, जिसके लिए सभी लोगों को जागरुक एवं तैयार करना आवश्यक है। उन्होंने कहा की स्कूली बच्चे किसी भी संदेश के संप्रेषण का एक प्रभावी व व्यापक माध्यम बनते हैं, विशेषकर जब अपने परिवेश व पर्यावरण से संबंधित जागरूकता की बात आती है, तो वह प्रत्येक घर -परिवार तक संदेश पहुंचाने में सहायक होते हैं।

इसी उद्देश्य से भविष्य में ‘ठोस कचरा प्रबंधन’ की नीति को सुचारू रूप से से लागू करने के लिए लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से इस टॉपिक को स्कूली बच्चों के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है।
इस विषय को छोटे व बड़े बच्चों के बीच में अनौपचारिक रूप से पढ़ाया जाएगा, ताकि वह इसमें रुचि ले सके और इसे दबाब के रूप में महसूस न करें। अगले 2 महीनों में बच्चों को इससे संबंधित कई ज्ञानवर्धक वीडियो व शिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिससे कि वह रुचि पूर्ण ढंग से इस वविषय पर अपनी समझ बढ़ा सकें।
केलांग में गीले कचरे को लोग पहले से ही खेतों में खाद के रूप में प्रयोग करते हैं; ठोस कचरे के निदान के लिए हम एक योजना बना रहे हैं, इसको कि शीघ्र लागू किया जाएगा, जिससे कि लाहौल के सुन्दर वातावरण में प्रदूषण फैलने से रोका जा सके।

पंकज रॉय ने कहा कि ठोस कचरा प्रबंधन के लिए हमने आईआईटी दिल्ली से एक एमओयू साइन किया है तथा जल्द ही पूरे लाहौल में ठोस कचरे के एकत्रीकरण, प्रबन्धन व निदान की व्यवस्था लागू की जाएगी।
इस अवसर पर उपमंडल अधिकारी केलांग अधिकारी केलांग राजेश भंडारी, पीओआईटीडीपी रमन शर्मा, निदेशक उच्च शिक्षा सुरजीत राव व प्रिंसिपल डाइट सुरेश भी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!