मंडी

संधोल सिंचाई योजना में बने चैम्बरों में आए दिन गिर रहे पशु

पुल पर रखी पाइप हादसों को दे रही आमंत्रण

स्वतंत्र हिमाचल (संधोल) अनिल

आजकल संधोल क्षेत्र में विकास कार्य जोरों पर हैं जगह जगह बडी परियोजनाओं का कार्य चला हुआ है कहीं खेतों को हरा भरा रखने के लिए सिंचाई योजना हो चाहे संधोल से सरकाघाट तक जाने वाली जल शक्ति विभाग की योजना हो हर एक का काम जोरों पर है।लेकिन इन परियोजनाओं के बनने से बहुत जगह लोगों को नुक़सान भी हो रहा है इंसान तो इंसान अनेकों पशु इन परियोजनाओं का अब तक शिकार हो चुके हैं कुछ एक तो अपनी जान से हाथ गवा बैठे।

संधोल सिंचाई परियोजना
जी हां संधोल सिंचाई परियोजना के तहत खेतों  बड़े बड़े चैम्बर बनाए गए हैं चैम्बर खुले रहने की वजह से आए दिन गाय व अन्य जानवर इन चैम्बरों में गिर रहे हैं जिससे स्थानीय लोगों की समस्या बढ़ रही है हाल ही में एक महीना पहले एक गर्भवती गाय ने चैम्बर में गिर कर दम तोड़ दिया था और अभी लगातार दो दिनों से गायों के चैम्बर में गिरने की खबरें जगह जगह से आ रही हैं स्थानीय लोगों ने भी कई बार कार्यरत कंपनी व विभाग से इन चैम्बरों को ढकने का आग्रह किया लेकिन सभी ने बात को अनसुना कर दिया जिसका खामियजा अब पशु अपनी जान देकर करने को मजबूर हैं।

दूसरी तरह संधोल से सरकाघाट तक जाने वाली जल शक्ति विभाग की परियोजना में विभाग ने लोक निर्माण विभाग के पुल पर एक भारी भरकमप पाइप लाइन रख दी है जिससे पुल के क्षतिग्ररस्त होने के भरपूर आसार तो हैं ही लेकिन आए दिन पाइप पुल पर होने की वजह से हादसे हो रहे हैं कभी दो पहिया वाहन गिर रहे हैं तो कभी राह चलते लोग गिर रहे हैं लोक निर्माण विभाग की मानें तो यह लाइन उनकी परवानगी के बिना ही पुल पर रखी गई है जिसको हटाने के लिए विभाग को लिखित नोटिस भी कई बार निकाले गए हैं लेकिन जल शक्ति विभाग के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी

संधोल खरजनू बरछवाड़ परियोजना में जल शक्ति विभाग के द्वारा कार्य में अधिकृत कंपनी यूनिप्रो के अधिकारी अनुराग शर्मा का कहना है पुल पर पाइप बिछाने के संदर्भ में अधिक जानकारी सहायक अभियंता संधोल बता सकते हैं उनकी अध्यक्षता में यह कार्य हुआ है।

जल शक्ति विभाग धर्मपुर के अधिशासी अभियंता राकेश पराशर का कहना है कि दोनों विभागों के मध्य बात चली है यदि कोई हादसा पुल पर होता है तो दोनों विभाग जिम्मेदार हैं।
दूसरी तरह सिंचाई योजना के चैम्बर खुले रहते हैं इनको ढकने का कोई इंतजाम नहीं हो सकता

मुख्य अभियंता जल शक्ति विभाग हमीरपुर देवेश भारद्वाज ने बताया कि मामला उनके ध्यान में नहीं है लेकिन यदि पाईप रखी है तो उसको कंक्रीट बगैरा से कवर किया जाएगा ताकि कल को कोई हादसा ना हो,सम्पूर्ण मामले की पड़ताल कर समस्या का समाधान किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!