पानी नही आया तो करेगें कार्यालय का घेराव

 

आक्रोश: रिगड गांव में गहराया पानी का संकट,ग्रामीणों में रोष, पानी की मांग को लेकर कार्यलय के घेराव की चेतावनी

स्वंतंत्र हिमाचल (नेरचौक) अमन शर्मा

उप मंडल बल्ह के अंतर्गत पंचायत रीगड में पीने के पानी की आपुर्ति नियमित नही हो रही है। इस कारण ग्रामीणों को पेयजल किलत का सामना करना पड रहा है। कभी आधी बाल्टी से ही संतोष करना पडता है। गांव के नलों में एक सप्ताह से तो पानी की एक बुन्द भी नही टपक रही है। बिना पानी के काफि लोग परेशान है। गंाव के नजदीक प्राकृतिक जल स्रोत न होने के कारण पानी मिलों दुर से लाकर गुजारना करना पडता है। स्थानिय निवासी गौरी दत,डोला राम, सुन्दर लाल,नेक राम,घनश्याम,हेम राज कौशल्या देवी,गीता देवी सेवक राम,देवकी देवी,माया राम का कहना है कि गर्मीयों के दिनों में हर वर्ष इसी तरह पानी की किल्लत से जुुझना पडता है। कई सालों से विभाग के पास जाकर पेयजल की समस्या को दुर करने की गुहार लगा चुके है

 

मगर विभागीय अधिकारीयों को कोई भी असर नही होता है। स्थानिय निवासी बेली राम ने कहा कि वे दो साल पहले अधिशाषी अभियंता से मिले, उन्होनें सहायक अभियंता को पानी बराबर सभी ब्राचों को देने की बात की थी। जहां ब्हील लगाए गए है वहां पर ताला लगाने का कहा गया था। लेकिन दो साल बीत जाने पर अभी तक एक भी काम नही हुआ। इससे साफ जाहिर होता है कि विभागीय अधिकारी अपने कार्य के प्रति कितना सचेत है। ग्रामीणों ने कडा आक्रोश करते हुए कहा कि विभागीय अधिकारी सुबह और शाम पानी छोडने के समय मौका करें तभी सच्चाई का पता लगेगा। ग्रामीणों ने दो टूक शब्दों में कहा है कि अगर पानी की आपुर्ती सही ढंग से नियमित नही की तो खाली मटकों के साथ कार्यलय का घेराव करने में कोई गुरेज नही करेगंे।

लोगों की समस्या जायज है। मुझे लोगों ने मौके पर बुलाया था,सुबह जब मौका किया था तो बहुत सारे नलों पानी की बुन्द तक नही टपक रही थी। विभाग को सर्तक होकर सुबह के समय मौका करना चाहिए। लोगों को रही समस्या को दुर करना चाहिए। हरिश कुमार बार्ड पंच पंचायत रीगड।

पानी न आने की सुचना मिलते ही रीगढ गांव का मौका किया। बहुत सारी जगह पर कंटरक्शन के कार्य चले हुए है। बाबजुद इसके कहीं पानी की समस्या है उसे दुर किया जाऐगा। सचिन ठाकुर कनिष्ठ अभियंता बग्गी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!