मंडी

भाजपा कांग्रेस के गले की फांस बनी ग्रयोह जिला परिषद सीट

चुनाव प्रत्याशियों के नाम पर नहीं बल्कि सीधा महेंद्र और भूपेन्द्र के नाम पर लड़ा जा रहा

वंदना को महिलाओं का तो भूपेंद्र को युवाओं और मज़दूरों का मिल रहा साथ
पिता के सत्ता में होने पर फ्रंट फुट पर है इस बार वंदना

स्वतंत्र  हिमाचल

(सरकाघाट)रंजना ठाकुर

जिला परिषद ग्रयोह वार्ड प्रदेश भर में सबसे चर्चित वार्ड बन चुका है l यह वार्ड सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्ष में बैठी कांग्रेस के गले की फांस बन गया है l चुनाव प्रत्याशियों के नाम के बजाय सीधा महेंद्र और भूपेंद्र के नाम पर लड़ा जा रहा है l यहां से कांग्रेस ने उम्मीदवार ना उतारकर माकपा के मजदूर नेता भूपेंद्र सिंह को चुनाव में उतारा है जबकि भाजपा ने जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह की बेटी बंदना गुलेरिया को चुनाव में उतारा है l पिछली बार महेंद्र विपक्ष में थे तो इस बार सत्ता में है lजिला परिषद ग्रयोह

पिता के सत्ता में मंत्री होने और घरेलू पंचायतों का फायदा वंदना गुलेरिया को साफ मिलता दिखाई दे रहा है l पिछले चुनाव में भूपेंद्र सिंह ने वंदना को दो हज़ार से अधिक मतों से हराया था l मतदान नजदीक आते ही एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ और रोड शो के अलावा डोर टू डोर प्रचार शुरू हो चुका है l मतदाताओं को अपनी ओर करने के लिए शाम दंड का सहारा लिया जा रहा है l हर कहीं पोस्टर और प्रचार में वंदना आगे दिख रही है l क़रीब 26 हज़ार मतदाताओं और 17 पंचायतों में फैले इस वार्ड में इस बार भाजपा समर्थित विंगा पंचायत जोड़ी गई है जबकि कांग्रेस के प्रभाव वाली जोढ़न पंचायत को यहां से काटकर संधोल में मिलाया गया है l

माकपा नेता भूपेंद्र सिंह का पिछले 5 सालों का जिला परिषद का कार्यकाल बेहद ही चर्चित रहा है l वह 5 साल मजदूरों के मुद्दों पर सक्रिय रहे हैं l बार-बार जनहित और भ्रष्टाचार के मुद्दे उठाते रहे हैं l उनकी मजदूरों पर सीधी पकड़ है l युवाओं के अलावा बजुर्गो और मज़दूर वर्ग का उन्हें भरपूर साथ मिल रहा है l हर पंचायत गांव में उनका दख़ल रहा है l

दूसरी ओर जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह की बेटी वंदना गुलेरिया को इस बार सत्ता का पूरा साथ मिल रहा है l पिछला चुनाव हारने के बाद से ही वे लगातार फील्ड में रही है l आदर्शनी वेलफेयर सोसाइटी की बतौर अध्यक्ष के दौरान उन्होंने अपने वार्ड में कई मेडिकल कैम्प आयोजित किए हैं साथ ही महिलाओं में उनकी अच्छी खासी पैठ है l पिता की विरासत संभालनें के दौरान हर वर्ग में उनकी पैठ बढ़ी है l

 

इस बार हर जगह महिलाओं का उन्हें भरपूर साथ मिल रहा है l मायका और ससुराल भी इस वार्ड में होने से उन्हें सीधा फायदा मिल रहा है l हालाँकि इन दोनों के अलावा तीसरे और कांग्रेस से निष्कासित एडवोकेट कुलदीप चम्याल भी मैदान में है l वह धाड़ता क्षेत्र में कांग्रेस और भाजपा द्वारा भेदभाव वर्तनें के मुद्दे को लेकर मैदान में हैं l उनके अनुसार कांग्रेस और भाजपा दोनों ने इस क्षेत्र में ना सीएसडी कैंटीन राष्ट्रीयकृत बैंक बस अड्डा केंद्रीय विद्यालय और आईटीआई कोई भी शिक्षण संस्थान नहीं खुलवाया है l फिलहाल वह मैदान में कहीं भी नजर नहीं आ रहे हैं l कुल मिलाकर कांग्रेस और भाजपा उम्मीदवारों में सीधे कांटे की टक्कर चल रही है l

वंदना गुलेरिया
वंदना को महेन्द्र का सहारा

पिता महेंद्र सिंह वंदना गुलेरिया के पक्ष में कई जनसभाएं आयोजित कर चुके हैं l उन्होंने कहा है बेटी और बोटी के बीच में सात जन्मों का रिश्ता होता है l मैंने इसे चुनावों में खड़ा करने से मना किया था l परंतु आप सभी लोगों ने समर्थन दिया l अब इसे जिताने की जिम्मेदारी भी आपकी है l जीत के आपके क्षेत्र का रिकॉर्ड तोड़ विकास करवाना मेरा काम है l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!