बद्दी

आपातकालीन सिजेरियन कर बकरी व उसके दो जुड़वा बच्चों की बचाई जान

हरियाणा के ग्रामीण को बद्दी के अस्पताल में दी गई सेवाएं

(बद्दी) प्रभजीत पम्मी)

पशु चिकित्सालय बद्दी के एक चिकित्सक ने मानवता का उदाहरण पेश करते हुए हिमाचल के चिकित्सालय में पदासीन होने के बावजूद हरियाणा के एक ग्रामीण की बकरी का सिजेरियन कर बकरी व उसके दो बच्चों को जीवनदान दिया । जानकारी देते हुए प्रदीप चंदेल ने बताया कि पशु चिकित्सालय बद्दी में डॉक्टर शंकर दास द्वारा एक बकरी का सिजेरियन कर बकरी और उसके दो जुड़वा बच्चो को नया जीवन दान दिया गया।

यह बकरी दो सप्ताह से पीडि़त थी व डिलिवरी समय पर न होने के चलते बुरी तरह से तड़प रही थी। हरियाणा में घर के नजदीक पशु चिकित्साल्य न हेाने व आर्थिक परेशानी के चलते उक्त ग्रामीण इलाज करवाने में अपने आप केा असमर्थ महसूस कर रहा था। हालांकि बकरी का मालिक हिमाचल का ना हो के पड़ोसी राज्य हरियाणा का है। दो सप्ताह से बकरी का प्रसव नहीं हो रहा था तथा उक्त व्यक्ति को हरियाणा में इलाज ना मिलने के कारण डॉक्टर शंकर दास ने बद्दी पशु चिकित्साल में सिजेरियन करने को हामी भर दी। बकरी व उसके जुड़वा बच्चो को देख कर बकरी के मालिक एवम् पशु चिकित्सालय के स्टाफ के चेहरे पर संतोषजनक मुस्कान बिखर गई। वहीं उक्त डाक्टर ने मानवता की मिसाल पैदा कर अन्य लोगेां के लिए भी संदेश छोड़ा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!