ऊना

ग्रामीण पैदावार को संजीवनी देगी औषधीय खेती : डीसी

औषधीय खेती को बढ़ावा देने के लिए एडीसी की अध्यक्षता में कमेटी गठित

स्वतंत्र हिमाचल

(ऊना)ललित ठाकुर

जिला ऊना में औषधीय पौधों की पैदावार को बढ़ावा देने के लिए उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने आदेश जारी कर अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी में उप निदेशक कृषि, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी, पीओ डीआरडीए, ईसपुर अस्पताल के एसएएमओ डॉ. नरेश शर्मा के अलावा अन्य अधिकारी, विषेशज्ञ तथा स्वयंसेवी संगठनों को शामिल किया है।

उपायुक्त ने बताया कि देश में औषधीय पौधों की बढ़ती मांग को देखते हुए जिला के ग्रामीण किसानों को इस खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि औषधीय पैदावार जिला के ग्रामीण किसानों के लिए वास्तव में संजीवनी साबित होगी। उन्होंने बताया कि किसानों के लिए यह लाभादायक खेती साबित होगी क्योंकि इन्हें बंदर व जंगली जानवर भी नुकसान नहीं पहुंचाते हैं, जिसके चलते खेती छोड़ चुके किसान दोबारा खेती-बाड़ी के लिए प्रोत्साहित होंगे। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में जिला कांगड़ा के देहरा व प्रागपुर में पायलट प्रोजैक्ट शुरू किया जा रहा है।

समिति के कार्य

समिति द्वारा जिला के उन संभावित क्षेत्रों की पहचान की जाएगी, जहां औषधीय पौधों की पैदावार की जा सके। कृषि अनुकूल जलवायु परिस्थितियों के अनुसार उगाए जाने वाले पौधों की पहचान करेगी। मार्किटिंग के लिए एजेंसियों के साथ समन्वय के साथ-साथ स्वयं सहायता समूहों व विपणन चैनलों की भी पहचान करेगी। किसानों को तकनीक व फसल प्रबन्धन बारे जागरुक करेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!