मंडी

मसेरन पंचायत में पेयजल समस्या हुई विकराल

पंचायत ने मुख्यमंत्री और जल शक्ति मंत्री को भेजा प्रस्ताव

एक सप्ताह में समस्या दूर ना हुई तो पंचायत प्रतिनिधि जनता सहित सड़कों पर उतरेंगे

(सरकाघाट )रंजना ठाकुर

एक तरफ़ केंद्र और प्रदेश सरकार हर घर को जल और नल के दावे कर रही है दूसरी तरफ़ यह दावे सरकाघाट विधानसभा में कतई भी धरातल में नजर नहीं आ रहे हैं l यहाँ पर गर्मियों के बजाय सर्दियों में ही क्षेत्र की कई पंचायतों में पेयजल समस्या विकराल होने की लगातार सूचना मिली रही है l ताजा मामले अनुसार उपमंडल की ग्राम पंचायत मसेरन में पेयजल समस्या विकराल हो चुकी है l करीब एक दर्जन गांव में प्राकृतिक स्त्रोत सूख जाने के कारण पानी की आपूर्ति बेहद ही कम हो रही है l

ग्रामीणों को परिवार के साथ साथ मवेशियों तक को पानी पिलाने के लिए प्राकृतिक स्त्रोतों से पानी ढूंढने पर मजबूर होना पड़ रहा है l समस्या को लेकर ग्राम पंचायत मसेरन के पंचायत प्रतिनिधियों ने आपात बैठक करके प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर को बकायदा प्रस्ताव पारित करके पेयजल समस्या दूर करने की गुहार लगाई है l साथ ही उन्होंने कहा कि अगर 1 सप्ताह में विभाग पेयजल समस्या दूर नहीं करता है तो ग्रामीण बिना अनुमति अपने खेतों में बिछाई गई पाइप लाइन को उखाड़ देंगे और सड़कों पर उतर कर धरना प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे l

ग्राम पंचायत मसेरन के प्रधान अधिवक्ता नरेश शर्मा और उपप्रधान कुलदीप कुमार ने कहा कि उनकी पंचायत के तारंगला डून रसेहड़ दरकालग मसेरन भटोह छेक़ वाल्हड़ा गांव में पेयजल समस्या गंभीर रूप धारण कर चुकी है l पंचायत के इन गांवों को प्राकृतिक स्त्रोतों से सप्लाई दी गई है l पुरानें जल स्त्रोत सर्दियों में ही सूखने कगार पर है l पेयजल आपूर्ति कम होने के कारण आम जनता को फरवरी के महीने में ही भीषण गर्मी का एहसास हो रहा है l उन्होंने जल शक्ति विभाग पर आरोप लगाते कहा कि विभाग ने कांड़ापतन से भद्रोता क्षेत्र को पेयजल सप्लाई के लिए मसेरन पंचायत की भूमि पर बिना किसी परमिशन से जगह जगह भारी भरकम पाईप लाइनें बिछा दी परंतु पंचायत के आधा दर्जन गावों को पानी की आपूर्ति बहाल सुचारु रूप से देनें को लेकर कोई भी प्रयास नहीं किया गया l पंचायत के आधा दर्जन गांव अभी भी प्राकृतिक स्रोतों से पानी लाने को मज़बूर हैं l उन्होंने कहा की अगर एक हफ्ते में जल शक्ति विभाग ने ग्रामीणों को पेयजल आपूर्ति नियमित नहीं की तो ग्रामीण बिना अनुमति उनकी ज़मीनों से गुजारी गई पाइप लाइनों को उखाड़ने पर मजबूर होंगे साथ ही सड़कों पर उतर कर धरना प्रदर्शन करने को भी मजबूर होंगे l उन्होंने विभाग से मांग की है कि भद्रोता क्षेत्र को बनाई गई पेयजल स्कीमों से दो टैंक उनकी पंचायत में बनाए जाएं ताकि इस समस्या का स्थाई समाधान हो सके l पंचायत प्रधान ने कहा कि अगर पीने के पानी का समस्या का निवारण नहीं किया गया तो सब डिवीजन मैजिस्ट्रेट और उपायुक्त के माध्यम से बकायदा प्रस्ताव सौंपा जाएगा l
फ़ील्ड स्टाफ़ को किया जाएगा तलब: एक्सियन
जल शक्ति विभाग सरकाघाट के अधिशासी अभियंता इंजीनियर एलआर शर्मा ने कहा कि मसेरन पंचायत में समस्या विकराल हुई है इसे लेकर विभाग के किसी भी कर्मचारी व वाटर गार्ड ने उन्हें सूचना नहीं दी है l अगर पेयजल सप्लाई की समस्या कई दिनों से आ रही हैं तो इसे लेकर वह वहाँ के सारे फ़ील्ड स्टाफ़ को तलब कर रहे हैं l वह खुद मसेरन पंचायत प्रधान उपप्रधान सहित दौरा करेंगे l लापरवाही बरतने वाले किसी भी कर्मचारी को बखशा नहीं जाएगा l पेयजल समस्या दूर करने को लेकर काण्ढ़ापतन बैरा भद्रोता स्कीम से अतिरिक्त पाइपलाइन पंचायत को डाले जाने के निर्देश दे रहे हैं l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!