मंडी

सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र में पेयजल संकट गहराया

लोगों ने सड़क पर उतरने की दी धमकी,विधायक पर लगाया अनदेखी का आरोप

(सरकाघाट)रितेश चौहान

उपमण्डल सरकाघाट के तहत नबाही वार्ड से जिला परिषद सदस्य व युवा नेता मुनीष शर्मा ने प्रदेश सरकार पर गोपालपुर ब्लॉक की अनदेखी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि ब्लॉक की 35-40 पंचायतों में पानी की किल्लत काफी गम्भीर हो चुकी है। हालांकि अभी गर्मी का मौसम पूरी तरह शुरू भी नहीं हुआ है और लोग पानी की बूंद- बूंद को तरसने के लिए मजबूर हो रहे हैं। मुनीष शर्मा ने स्थानीय लोगों के साथ इस बारे प्रदेश के राज्यपाल को एस डी एम के माध्यम से ज्ञापन सौंपा।मुनीष ने कहा कि गोपालपुर ब्लॉक में जल जीवन मिशन सिर्फ सरकार के महंगे विज्ञापनों तक ही सीमित है।

जल शक्ति विभाग की नौकरियों में भी गोपालपुर ब्लॉक के युवाओं की पूरी तरह अनदेखी की गई है। सरकार क्षेत्र के आधार पर चेहेतों को ही पिछले दरवाजे से नियमों को ताक पर रख कर नौकरियों की बन्दरबाँट कर रही है। मुनीष शर्मा ने गोपालपुर ब्लॉक की अनदेखी के खिलाफ अभियान शुरू किया है। उन्होंने सरकाघाट से केंद्रीय विद्यालय को छीनने का मुद्दा भी जनता में प्राथमिकता पर बनाया है।

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार बल्ह के किसानों की उपजाऊ भूमि छीनकर छोटा हवाई अड्डा बनाना चाहती है जबकि बिलासपुर, हमीरपुर जिला व सरकाघाट, धर्मपुर ब्लॉक के लोग चाहते हैं कि इस हवाई अड्डे का निर्माण खाली पड़ी भूमि में जाहू क्षेत्र में किया जाए। यहाँ न तो लोगों का विस्थापन होगा, न ही सरकार को ज्यादा मुआवजा देना पड़ेगा व बड़ी हवाई पट्टी का निर्माण भी आसानी से सम्भव है व मौसम के हिसाब से भी बल्ह के बजाय ज्यादा अनुकूल है।

इस जन अभियान में मुनीष शर्मा गोपालपुर ब्लॉक को सूखाग्रस्त घोषित करने व किसानों को फसल का मुआवजा देने, गौसदनों के निर्माण के प्रति सरकार के उदासीन रवैये, सड़कों व बसों की सुविधा, बिजली की समस्याओं को भी प्रमुखता से उठा रहे हैं। गोपालपुर ब्लॉक के विकास में पूरी तरह ग्रहण लग चुका है व लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त हो चुका है। मुनीष शर्मा ने कहा कि वे लोगों की दुःख तकलीफ को सरकार व प्रशासन के समक्ष उठा रहे हैं व जन अभियान को तेज करेंगे।

उन्होंने बताया कि अगर जलशक्ति विभाग और प्रदेश सरकार ने इस पेयजल समस्या का समाधान नहीं किया तो वे स्थानीय लोगों के साथ सड़कों पर उतरने से भी गुरेज नहीं करेंगे। इधर जब जलशक्ति विभाग के सरकाघाट स्थित अधिशासी अभियंता एल आर शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जिन पेयजल योजनाओं में जलस्तर घट रहा है उन्हें बड़ी योजना बैरा-भदरोता से जोड़ा जा रहा है।लोगों को पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!