नालागढ़

सड़क सुरक्षा जीवन – रक्षा प्रसंग पर आधारित समापन समारोह का आयोजन

(नालागढ़)ऋषभ शर्मा

सड़क सुरक्षा के मासिक अभियान के अंतर्गत 17 फरवरी , 2021 को क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, बद्दी स्तिथ नालागढ़, राम प्रकाश ने सड़क सुरक्षा जीवन – रक्षा प्रसंग पर आधारित समापन समारोह का आयोजन “पीरस्थान” में किया I मुख्य अतिथि के तौर पल उप-मंडलीय दंडाधिकारी, नालागढ़  महिंदर पाल गुर्ज्जर मौजूद रहे I इसके अलावा तहसीलदार नालागढ़,  ऋषभ शर्मा,  विद्या रतन, अध्यक्ष और  बीर सिंह चंदेल, कोषाध्यक्ष बद्दी-नालागढ़ ट्रक ऑपरेटर यूनियन से मौजूद रहे I

समारोह में सड़क सुरक्षा पर नुक्कड़ नाटक और सांस्कृतिक कार्यक्रम के ज़रिये, पर्वतीय लोक मंच, धारवा फोक ग्रुप के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी I
समारोह में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, बद्दी स्तिथ नालागढ़ द्वारा आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता में अव्वल पुरस्कार , दून वैली पब्लिक स्कूल की पुष्पदीप कौर और स्लोगन प्रतियोगिता में दून वैली पब्लिक स्कूल की ही वैष्णवी पाल को मिला I लड़कों की दौर प्रतियोगिता में अव्वल आने वाले, औद्योगिक प्रशिक्षण संसथान, नालागढ़ के विक्रम को और लड़कियों में अव्वल आने वाली अनीता देवी को पुरस्कृत किया गया

समारोह में मौजूद लोगों में बद्दी-नालागढ़ ट्रक ऑपरेटर यूनियन, बस ऑपरेटर यूनियन, टैक्सी ऑपरेटर यूनियन और ऑटो रिक्शा ऑपरेटर यूनियन के सदस्य मौजूद रहे l सभी मौजूद लोगों से आह्वाहन किया गया की वह यातायात नियमों का पालन करें और सड़क पर सुरक्षित गाड़ी चलाएं और सड़क पर पैदल चलने वालो को सड़क पार करने में प्राथमिकता दे l
आज की दुनिया में सड़क और परिवहन हर इंसान का एक अभिन्न अंग बन गया है। प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी रूप से एक सड़क उपयोगकर्ता है। वर्तमान परिवहन प्रणाली ने दूरियों को कम कर दिया है लेकिन दूसरी ओर इसने जीवन जोखिम को बढ़ा दिया है। हर साल सड़क दुर्घटना में लाखों लोगों की जान चली जाती है और करोड़ों लोगों को गंभीर चोटें आती हैं।


भारत में हर साल लगभग अस्सी हज़ार लोग सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाते हैं, जो पूरी दुनिया में कुल मृत्यु का तेरह प्रतिशत है। हिमाचल प्रदेश की बात करे तो पिछले दो सालों में 5112 सड़क दुर्घटनाएं हुई है जिसमे 2032 लोगो को अपनी जान गवानी पड़ी है और 8128 लोग गंभीर रूप से घायल हुए है!अधिकांश दुर्घटनाओं में वाहन चालक एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अधिकांश मामलों में क्रैश या तो लापरवाही के कारण होता है या सड़क उपयोगकर्ता की सड़क सुरक्षा जागरूकता की कमी के कारण होता है। इसलिए, सड़क सुरक्षा शिक्षा जीवित रहने के किसी भी अन्य बुनियादी कौशल के रूप में आवश्यक है।

सरकार का और परिवहन विभाग का उद्देश्य वर्तमान और भावी सड़क उपयोगकर्ताओं के बीच सुरक्षित सड़क उपयोगकर्ता व्यवहार को प्रोत्साहित करने के लिए सड़क उपयोगकर्ताओं के लिए सड़क सुरक्षा जानकारी प्रदान करना है और हर साल हमारी सड़कों पर मारे गए और घायल हुए लोगों की संख्या को कम करना है।
परिवहन विभाग महीने भर से सड़क सुरक्षा से जुड़े विभिन्न कार्यक्रमों को करवा रहा है जिसका उदेशय लोगो में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता लाना है और उन्हें शिक्षित करना है ताकि सड़क दुर्घटनाओं के कमी आ सके I

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!