सोशल मीडिया को अधीन लेकर अभिव्यक्ति की आज़ादी छीन रही केन्द्र सरकार : कौशल

 

आपदा की घड़ी में जनता की रक्षा करने में बुरी तरह नाकाम रही भाजपा सरकार

(सरकाघाट)रितेश चौहान

प्रधानमंत्री और भाजपा की धूमिल होती छवि को लेकर हुए चिंतन के उपरांत कुछ समाचार चैनलों ने अचानक से मनघडंत सर्वेक्षणों का हवाला देकर प्रधानमंत्री की छवि को पोलिश करने की मुहिम शुरू कर दी है, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता प्रेम कौशल ने मीडिया को जारी एक बयान में कहा कि नेतृत्व तथा शाषक की काबलियत की परीक्षा लम्बे छोड़े,लच्छेदार और झूठ से लुवरेज भाषणों से नहीं अपितु आपदा एवं संकट की घड़ी में किस प्रकार वह अपनी जनता की रक्षा करता है उससे होती है जिसमें प्रधानमंत्री और सरकार बुरी तरह से असफल हुए हैं जिसके परिणाम स्वरूप जनता में आक्रोश ब्यापत है और जिसकी अभिव्यक्ति जनता सोशल मीडिया के माध्यम से प्रकट कर रही है।

देश में ऐसे बहुत से तथ्य और मुद्दे जो नरेंद्र मोदी के महिमामण्डल के आवरण के पीछे ढके हुए थे वह महममारी से देशवासियों की रक्षा करने में असफल रहने की बजह से अब उजागर होने लगे हैं तथा सिलसिले बार बर्तमान सरकार की विफलताओं की कड़ियाँ एक दूसरी से जुड़ती जा रही हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि देश के बड़े मीडिया हाउसेज की एकतरफा पत्रकारिता के चलते जनता सोशल मीडिया के माध्यम से अपना मत प्रकट करने को प्राथमिकता दे रही है जिसमें सरकार तथा प्रधानमंत्री की गिरती छवि की स्पष्ट झलक देखने को मिल रही है और इसी से चिंतित सरकार ने अब सोशल मीडिया को भी अपने नियंत्रण में लेने की योजना बना कर अभिव्यक्ति की आज़ादी और लोकतंत्र की हत्या करने की तानाशाही मानसिकता को संतुष्ट करने की दिशा में कानून बनाने का कदम उठाया है।

भाजपा और प्रधानमंत्री देश में एक पार्टी और एक नेता के साम्राज्य तथा शाषन के पक्षधर हैं, परन्तु देश की जनता और कांग्रेस पार्टी उनके इस मन्सूवे को पूरा नहीं होने देंगे तथा अभिव्यक्ति की आज़ादी एवं लोकतंत्र तथा संविधान की रक्षा के लिए आंदोलन की राह पर किसी भी हद तक जा सकते है l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!