काँगड़ा

भाजपा की “डबल इंजन की सरकार ” सूबे में पूरी तरह से हो चुकी फेल : कल्याण भण्डारी

विश्व धरोहर कालका-शिमला रेल लाइन का निजीकरण नहीं होगा बर्दाश्त- आप

 

 

(कांगड़ा)मनोज कुमार

2008 में यूनेस्को द्वारा घोषित विश्व धरोहर कालका-शिमला रेल मार्ग को केंद्र सरकार ने निजी कम्पनी के हाथों सौंपने की तैयारी की है जिसका आम आदमी पार्टी की हिमाचल प्रदेश इकाई जोरदार विरोध करती है। ज्ञातव्य है कि रेल विभाग ने इस ट्रैक का अध्ययन करने व पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड पर सौंपने का उत्तरदायित्व रेल भूमि विकास प्राधिकरण को दिया है जो चार महीने में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता कल्याण भण्डारी ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि उक्त वर्ल्ड हेरिटेज रेल मार्ग पर दौड़ने वाली “टॉय ट्रेन” पर रोजाना तकरीबन डेढ़ हजार पर्यटक सफर कर हसीन प्राकृतिक वादियों के कुदरत के नजारों का लुत्फ उठाते हैं। पर्यटन मौसम में यात्रियों का यह आंकड़ा दुगने से भी ज्यादा हो जाता है। ऐसे में रेलवे विभाग का तर्कसमझ से परे है कि उक्त मार्ग घाटे पर चल रहा है । वर्ष1903 से संचालित इस ऐतिहासिक रेल ट्रैक को किसी निजी संस्था को बेच देना किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा व रेल मुलाजिमों और आम जनता को साथ लेकर जन आंदोलन खड़ा किया जा सकता है।

कल्याण भण्डारी ने कहा कि भाजपा की “डबल इंजन की सरकार ” सूबे में पूरी तरह से फेल हो चुकी है क्योंकि न तो मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर और न ही केंद्रीय मंत्री श्री अनुराग ठाकुर हिमाचल प्रदेश के हितों की पैरबी एवं सुरक्षा कर पाये हैं।
भण्डारी के अनुसार प्रदेश भाजपा सरकार राज्य के कर्मचारियों के साथ पिछले चुनावों में किये गये वायदों को अमलीजामा पहनाने में नाकामयाब सावित हो चुकी है जिनमें अनुबंध कार्यकाल को दो साल करना, ओल्ड पेंशन योजना की बहाली के लिए कमेटी का गठन करना, 4-9-14 की वेतन विषंगतियों को दूर करना इत्यादि शामिल है। अब सरकारी धरोहर को प्राइवेट ऐजेंसी को बेच देने की प्रस्तावित योजना के संदर्भ में रहस्यमयी खामोशी आने वाले विधानसभा चुनावों में जय राम सरकार को भारी पड़ेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!