जम्मू-पुंछ राजमार्ग जाम कर बजरंग दल ने महबूबा मुफ़्ती का पुतला फूंक कर किया जोरदार प्रदर्शन

स्वतंत्र हिमाचल

(राजौरी)अनिल भारद्वाज

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के एक बयान से राष्ट्रवादी संगठनो में रोष व्याप्त है। जिसके चलते महबूब मुफ़्ती के ख़िलाफ़ आक्रोशित संगठन बजरंग दल के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए जम्मू पुंछ राजमार्ग के अंतर्गत मुरादपुर चौक पर महबूबा मुफ़्ती का पुतला फूंका। हिन्दू वादी लोगों ने जमकर नारेबाजी की और सरकार से महबूबा मुफ़्ती के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा चलाने की मांग की। इस प्रदर्शन में काफी संख्या में बजरंग दल, वीएचपी कार्यकर्ता मौजूद थे।

हाल ही में जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक प्रेसवार्ता के दौरान बयान दिया था कि जब तक हमारा झंडा वापस नहीं मिल जाता हम दूसरा झंडा नहीं उठाएंगे और हमारे पीडीपी कार्यालय में भारत का झंडा नहीं लगेगा। जिसपर विलय दिवस पर जमकर विरोध भी देखने मिला और राष्ट्रवादी लोगों में भारी रोष है । बजरंग दल नेता साहिल शर्मा, सचिन मानस व हिमांशु भार्गव कि पूर्व मुख्यमंत्री जम्मू कश्मीर महबूबा मुफ्ती ने देश विरोधी बयान देकर अपना असली चेहरा देश के सामने ला दिया है।

महबूबा मुफ्ती को देश से ज्यादा राज्य का झंडा प्यारा है। ऐसे लोग देश की अखंडता के लिए खतरा है। अभी तो बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने महबूबा मुफ्ती का पुतला दहन कर अपना आक्रोश व्यक्त किया है अगर भविष्य में भी महबूबा मुफ्ती ने राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया तो बजरंग दल के  कार्यकर्ता बर्दाश्त नहीं करेंगे ।

बजरंग दल ने कहा कि जिन लोगों को देश का झंडा उठाने में शर्म आ रही है उन्हें देश से बाहर निकाल दिया जाए। साहिल ने कहा कि तिरंगे को उठाने में जम्मू कश्मीर  की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को शर्म आ रही है। इस तरह का बयान देकर महबूबा मुफ्ती ने देश का ही नहीं बल्कि उन शहीदों का भी अपमान किया है जिन्होंने देश की रक्षा के लिए हंसते हुए अपने प्राण त्याग दिए।

विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने भारत सरकार से मांग की है कि वह महबूबा मुफ्ती के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल में बंद करें। महबूबा मुफ्ती के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कुछ समय तक जम्मू-पुंछ नेशनल हाईवे144ए पर वाहनों की आवाजाही भी अवरुद्ध रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!