अनूप कुमारी की सरकाघाट नगर परिषद अध्यक्ष से छुट्टी

 

सभी छःपार्षद अविश्वास प्रस्ताव दौरान हुए एकजुट,एक माह में होगा नए अध्यक्ष का चुनाव

कश्मीर सिंह को अध्यक्ष चुना जाना तय

(सरकाघाट )रितेश चौहान

आखिरकार सरकाघाट नगर परिषद अध्यक्ष अनूप कुमारी को तमाम पार्षदों के विरोध के बाद अध्यक्ष पद से रुखसत होना ही पड़ा l वह सरकाघाट नगर परिषद के इतिहास की पहली ऐसी अध्यक्षा बनी जिसे चुनावों के ठीक एक साल बाद ही अपना पद छोड़ना पड़ा है 14 महीने पहले नगर परिषद के अध्यक्ष पद पर निर्वाचित अनूपकुमारी को अपने पति की दखलअंदाजी के चलते भारी विरोध का सामना करना पड़ा था उसी कारण उन्हें पराजय का मुहं देखना पड़ा। नगर परिषद सरकाघाट में कुल सात वार्ड हैं और इनमें से सभी छः वार्डों के पार्षदों उपाध्यक्ष ध्यानसिंह चौहान, कश्मीर सिंह, बृजलाल,हेमराज परवारी,शांता देवी और मंजू देवी ने ईओं का अतिरिक्त कार्यभार देख रहे एस डी एम राहुल जैन के समक्ष अविश्वास प्रस्ताव पर मोहर लगा दी तथा एस डी एम राहुल जैन अध्यक्ष के पद को खाली घोषित करते हुए एक महीने के भीतर नए अध्यक्ष का चुनाव करने की बात कही। साथ ही नया अध्यक्ष बनने तक उपाध्यक्ष ध्यानसिंह को नगरपरिषद के सुचारू रूप से कार्य संचालन करने के आदेश जारी किए। अपनी एक तरफ़ा हार देखते हुए निवर्तमान अध्यक्ष अनूपकुमारी ने बैठक से किनारा करना उचित समझा l वह बैठक दौरान नगर परिषद बैठक हाल से ग़ायब ही रही l सूत्रों की मानें तो अध्यक्ष पद पर कलश वार्ड के कश्मीर सिंह का चूना जाना तय माना जा रहा है क्योंकि अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति के पुरुष वर्ग के उम्मीदवार के लिए आरक्षित है और कश्मीर सिंह अकेले पुरुष पार्षद अनुसूचित जाति से संबंध रखते हैं।


इससे पहले भी वही अध्यक्ष पद के दावेदार थे परंतु कांग्रेस बैकग्राउंड के चलते चुनाव के दिन विधायक कर्नल इंद्र सिंह ने पासा पलटते हुए कांग्रेस की अनूप कुमारी को भाजपा में शामिल करके उन्हें अध्यक्ष पद पर बिठा दिया था परंतु महज 14 माह बाद ही कुर्सी से हटना पड़ा है l

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!