एग्रीकल्चर विषय विद्यार्थियों ने किया अभिलाषी यूनिवर्सिटी चैल -चौक का शैक्षणिक भ्रमण

 

स्वतंत्र हिमाचल

(चुराग) राज ठाकुर

राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पांगणा के एग्रीकल्चर विषय के विद्यार्थियों ने चेल- चौक स्थित अभिलाषी विश्वविद्यालय का एक दिवसीय शैक्षणिक भ्रमण किया। विद्यार्थियों का दल एग्रीकल्चर वोकेशनल टीचर दिनेश कपुर तथा प्रयोगशाला सहायिका अहिल्या के मार्गदर्शन में अभिलाषी यूनिवर्सिटी पहुंचा। जहां पर असिस्टेंट प्रोफेसर पैथोलॉजी अक्षय कुमार तथा विशाल द्वारा विद्यार्थियों को कृषि की आधुनिक तकनीकों , केंचुआ खाद बनाने का तरीका, वर्मी कंपोस्ट, कृषि में इस्तेमाल किए जाने वाले आधुनिक यंत्रों, उत्तम फलों और सब्जियों की नस्लों, फसलों को बीमारियों से बचाने के तरीकों सहित कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध करवाई गई।एग्रीकल्चर वोकेशनल अध्यापक दिनेश कपूर ने बताया कि भारत एक कृषि प्रधान देश है।यहां की आर्थिकी कृषि पर निर्भर करती है। आधुनिक तरीके से की गई कृषि से कम भूमि में अधिक फसल पैदा की जा सकती है।

विद्यार्थियों को इस प्रकार के बड़े संस्थानों में भ्रमण करवाने से उनमें एग्रीकल्चर के प्रति रुचि और नई तकनीकों को जानने का अनुभव प्राप्त होता है। जिससे आगे जाकर विद्यार्थी इस क्षेत्र में रोजगार की अच्छी संभावनाएं तलाश सकते हैं। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों को अन्य स्थानों पर भी भ्रमण करवाया जा रहा है पिछले सप्ताह उन्हें पांगणा बागवानी विभाग कार्यालय का भ्रमण करवाया गया था। जहां एचओडी मोनिका द्वारा उन्हें सेब के पौधों से जुड़ी प्रोनिंग, पौधों को लगाने का तरीका सहित कई बहुमूल्य जानकारियां उपलब्ध करवाई गई थी। दिनेश कपूर ने जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए अभिलाषी यूनिवर्सिटी तथा बागवानी कार्यालय पांगणा का आभार प्रकट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!