लोकतांत्रिक इतिहास में भाजपा सरकार मना रही अपनी नाकामियों का जश्न : रमेश राॅव

स्वतंत्र हिमाचल

(चम्बा)ब्यूरो

हिमाचल के लोकतांत्रिक इतिहास में भाजपा सरकार ऐसी सरकार बनने जा रही है,जो अपनी नाकामियों व कुप्रबंधन पर जश्न मना रही है! हिमाचल में कोरोना काल के दौरान दो हजार से अधिक लोग मौत का शिकार हो गए l जिसमें अधिकतर मौतें बेहतर स्वस्थ सुबिधाओं की कमी के कारण हुई हैं,

कोरोना के संकट में सरकार बेहतर स्वस्थ देने के बजाये, कोरोना काल में हो रहे घोटालों में उल्झी रही और अपने मंत्रियों को छुपाने में लगी रही, फिर मंत्रीमडल के फेरबदल में व्यस्त हो गई, फिर जनता को बेहतर सुबिधाएँ देने के बजाय मंत्रियों को बेहतर सुबिधाएँ दी, जैसे महंगी गाड़ी  इससे स्पष्ट होता है कि प्रदेश सरकार एक संवेदनहीन सरकार बनकर रह गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के ये 3 साल सुशासन, विश्वास और विकास के नहीं, बल्कि कुशासन, विश्वासघात और बर्बादी वाले रहे हैं। जिस सरकार के मुख्यमंत्री राहत कोष में घोटाला सामने आ जाए उससे क्या गरीब और बेरोजगार जनता उम्मीद रखे।

उन्होंने कहा कि जयराम सरकार के पास 3 साल के कार्यकाल को गिनाने के लिए कोई 5 बड़ी उपलब्धियां तक नहीं है,जो जनता को गिना सके, ऐसे में सरकार किसका जश्र मना रही है,उन्होंने बताया की खुद को डबल इंजन की सरकार बताने वाली भाजपा सरकार यह बताएं की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन वर्षों में तीन बार हिमाचल आए हैं, उन्होंने हिमाचल को क्या दिया? हिमाचल की आर्थिकी बुरा हाल है। सरकार कर्जे के दम पर चलाई जा रही है, इनके ड्रीम प्रोजेक्ट शिमला-धर्मशाला, पठानकोट- मनाली फोरलेन व अन्य NH की परियोजना क्या बना? कहा गई हिमाचल की रेल परियोजना?

क्यों नहीं हुआ धर्मशाला स्मार्ट सिटी का अधूरा काम पुरा। सेंट्रल यूनिवर्सिटी धर्मशाला का क्यों काम अटका। कांगड़ा ऐरपोर्ट के विस्तारी करण जो होना था क्यों नहीं हुआ। मंडी में बन रहे अंतराष्ट्रीय हवाईअड्डे की फाइल कहा दब गई वो तो मुख्यमंत्री का गृह क्षेत्र है,मंडी छोटी काशी के सौन्दर्य करण पर क्यों गुम हैं? ऐसा क्या कारण था की राज्य मंत्री और सीएम को जनता के सामने उलझना पड़ा।
इसका जवाब भी सरकार को देना होगा। उन्होंने कहा कि इंस्वैस्टर मीट धर्मशाला में 18 करोड़ जो फूंक डालें उसका परिणाम क्यों शून्य रहा। क्या इन सब नाकामियों पर जय राम सरकार जश्न मना रही है। प्रदेश सचिव रमेश राव ने कहा कि कोरोना काल में बस किराया बढ़ाना, पीडीएस प्रणाली को ध्वस्त करना, दाल, तेल, चीनी, नमक, पैट्रोल-डीजल, बिजली, पानी, सीमैंट, गाडिय़ों की रजिस्ट्रेशन को महंगा करना सरकार अपनी उपलब्धियां बता रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!