मंत्री के दवाब के कारण सज्जाओ पीपलू प्लस टू स्कूल बना मंत्री पुत्र के प्रचार का केंद्र

जनप्रतिनिधियों के बजाये हर फंक्शन में मंत्री पुत्र को ही बनाया जाता है मुख्यातिथि -भूपेंद्र


(सरकाघाट)रितेश चौहान


जलशक्ति मंत्री द्वारा अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर धर्मपुर में पूरे सरकारी तंत्र पर दबाब बनाया जा रहा है कि वह उनके
पुत्र को प्रोमोट करें।अपने स्थानांतरण के डर से सभी अधिकारी उनके पुत्र रजत ठाकुर को सरकारी कार्यक्रमों में मुख्यातिथि बुला रहे हैं। यह आरोप लगाते हुए पूर्व जिला परिषद सदस्य एवं माकपा नेता भूपेंद्र सिंह ने कहा कि जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने अपने पुत्र को विधायक बनाने के लिए चुने हुए जन प्रतिनिधियों को पीछे करके सरकारी कार्यक्रमों में भेजना शुरू कर दिया है। उन्होंने धर्मपुर विधनसभा क्षेत्र में ये बात माईने नहीं रखती है कि उसका चुना हुआ नुमाईंदा कौन है लेकिन हर तरह के सरकारी समारोहों में गैर कानूनी तौर पर सरकारी कर्मचारियों को मंत्री के बेटे को ही मुख्यातिथि बनाना पड़ रहा है।सबसे बड़ी हैरानी की बात तो यह हो रही है कि जिस गरयोह ज़िला परिषद क्षेत्र से मंत्री की बेटी वंदना गुलेरिया ज़िला परिषद सदस्य है वहां से भी उनको साइडलाइन करके मंत्री के बेटे को ही समारोहों में मुख्यथि बनाया जा रहा है तो दूसरे क्षेत्रों में तो चुने हुए पार्षद मंत्री के बेटे को हार डालने के लिए ही इस्तेमाल हो रहे हैं।पूर्व ज़िला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह ने इस कर्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं और इसे असवैधानिक करार देते हुए परिवार राज औऱ राजशाही की संज्ञा दी है।

उन्होंने बताया कि पिछले कल सजाओपीपलु प्लस टू स्कूल में बेस्ट एस एम सी के अवॉर्ड वितरण का फंक्शन आयोजित किया गया जिसमें मंत्री के बेटे को मुख्यातिथि बनाया गया था।इससे पूर्व गत माह इसी स्कूल में एन एस एस के शिविर में भी इन्हीं को मुख्यातिथि बनाया गया था।जिसमें स्कूल प्रबन्धन औऱ अधयापक गण मंत्री पुत्र के स्वागत में खड़े रहते हैं और यह स्कूल मंत्री के बेटे का अड्डा बन गया है।इसके अलावा पिछले दिनों अंबेडकर भवन में गृहणी योजना के चूल्हे वितरित करने के समारोह हुआ जिसमें भी मंत्री पुत्र को ही मुख्यातिथि बनाया गया था और टिहरा पँचायत के सकोहटा में कृषि विभाग के समारोह में भी यही मुख्यातिथि बने हुए थे।

इन सभी कार्यक्रमों में इस वार्ड की चुनी हुई ज़िला परिषद सदस्य वंदना गुलेरिया उपस्थित नहीं थी।इससे यह लग रहा है कि जिला पार्षद की भूमिका भी मंत्री का बेटा ही निभा रहा है और चुनी हुई ज़िला सदस्य को भी हाशिये पर धकेला जा रहा है।भूपेंद्र सिंह ने बताया कि यहाँ की ज़िला पार्षद भाजपा महिला मोर्चा की राज्य महासचिव के साथ साथ सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की राज्य कमेटी की सदस्य भी है जो उस हैसियत से भी ऐसे सरकारी समारोहों में भाग लेने के लिए अधिकृत है। लेकिन उन्हें भी इस क्षेत्र के सरकारी व विभागीय समारोहों में सरकारी कर्मचारी व अधिकारी कियूं नहीं बुला पा रहे हैं इसके पीछे जलशक्ति मंत्री की ही डायरेक्शन हो सकती है अन्यथा उनकी सहमति के बिना ऐसा दुसाहस नहीं कर सकता है।इस प्रकार धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में एक तरफ़ जहाँ मंत्री के बेटे को असवैधानिक तौर पर विधायक की भूमिका निभा रहा तो दूसरी तरफ चुने हुए नुमाईंदों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!