हिमाचल दूध उत्पादक संघ एरिया कमेटी रामपुर ने किसान मजदूर भवन चाटी में क़ी बैठक

7 मार्च को दत्तनगर मे मिल्क फेडरेशन के घेराव व क्रमिक अनशन की तैयारियों पर हुई चर्चा

स्वतंत्र हिमाचल
(आनी) विनय गोस्वामी

हिमाचल दूध उत्पादक संघ एरिया कमेटी रामपुर की बैठक शनिवार क़ो किसान मजदूर भवन चाटी कार्यालय में आयोजित हुई।

इस बैठक में निरमण्ड,रामपुर,ननखड़ी,नारकण्डा,करसोग,व आनी के कमेटी सदस्य शामिल हुए और 7 मार्च को दत्तनगर में मिल्क फेडरेशन का घेराव व क्रमिक अनशन की तैयारियों पर विस्तृत चर्चा की गई।

बैठक में उपस्थित सदस्यों को संबोधित करते हुए हिमाचल दूध उत्पादक संघ के महासचिव देवकीनंद व अध्यक्ष दिनेश मेहता ने कहा कि आज के समय में दूध उत्पादकों को बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है दूध उत्पादकों को ना तो दूध का उचित दाम मिल रहे हैं और ना ही दूध की पेमैंट समय पर मिल रही है।दूध के दाम पानी से भी कम मिल रहे हैं जिससे कि इन परिवारों को अपने परिवार का पालन पोषण करना मुश्किल हो रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा दूध उत्पादकों के लिए कोई ठोस नीति नहीं बना रही है।

बजट का भी अभाव है जिससे कि पेमेंट मिलने का कोई निश्चित समय नहीं है कभी कभी तो पेमेंट दो माह बाद भी मिल रही है जिससे कि इन पर दोहरी मार पड़ रही है।
उन्होंने कहा कि दूध उत्पादक संघ ने कई बार दुग्ध उत्पादकों की समस्याओं को प्रदेश सरकार के सामने रखा है परंतु प्रदेश सरकार इनकी समस्याओं के प्रति गंभीर नहीं है जिससे कि दूध आज पानी से भी सस्ता बिक रहा है। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश में मंहगाई लगातार बढ़ रही है जिससे कि खाद्य वस्तुओं के अलावा पशुओं को मिलने वाले पशु आहार,फीड व दवाई के दाम भी बढ़े हैं जिससे कि दूध को पैदा करने मे लागत भी बढ़ रही है।सरकार की गलत नीतियों के चलते किसानी व पशु पालन घाटे का सौदा बन रहा है। उन्होंन कहा कि 31 जनवरी को दूध उत्पादक संघ ने प्रदेश सरकार को 8 सूत्रीय मांग पत्र दिया है जिसमें मुख्य रूप से दूध का दाम 40 रुपये प्रति लीटर दिया जाए,दूध की पेमेंट हर महीने 10 तारीख से पहले दी जाए,पशु आहार पर सब्सिडी दी जाए तथा डिपुओं के माध्यम से उपलब्ध करवाया जाए, पशु औषधालयों में खाली पद भरे जायें,मिल्क फेडरेशन के बजट को 50 करोड़ किया जाए,सभी सोसायटी में दूध की गुणवत्ता को मापने के लिए टेस्टिंग मशीन दी जाए।

उन्होंने कहा कि 7 मार्च को दत्तनगर मे होने वाले प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए गांव गांव मे मीटिंग कर दूध उत्पादकों को संगठित किया जाएगा।
बैठक में पूरण ठाकुर,जगदीश,
ख्यालानंद,हरविंदर,मिलाप,विजय,हेम राज,शोभा राम,रंजीत आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!