Friday, February 23, 2024
Homeसोलनकलयुग में श्रीमद् भागवत महापुराण श्रवण कल्पवृक्ष से भी बढ़कर : रसिक...

कलयुग में श्रीमद् भागवत महापुराण श्रवण कल्पवृक्ष से भी बढ़कर : रसिक जी महाराज

लोहारघाट/यशपाल ठाकुर


परगना मलौन की ग्राम पंचायत क्यार कन्यता के गांव लोहारघाट में लक्ष्मी सिंह पवार और उनके समस्त परिवार के कर कमलों द्वारा इस मद भागवत कथा का आयोजन चल रहा है ।

श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन रसिक जी महाराज की अमृतवाणी ज्ञान गंगा के माध्यम से कलयुग में श्रीमद् भागवत महापुराण सब राम कल्पवृक्ष से भी बढ़कर है। क्योंकि कल्पवृक्ष मात्र 3 वस्तुओं अर्थ ,धर्म और काम ही दे सकता है मुक्ति और भक्ति नहीं दे सकता है ।लेकिन श्रीमद्भागवत कथा तो दिव्या कल्पतरु है यह अर्थ धर्म काम के साथ-साथ भक्ति और मुक्ति प्रदान करके जीव को परम पद प्राप्त कर आता है उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागवत केबल पुस्तक नहीं साक्षात श्री कृष्ण स्वरूप है।

इसके एक एक अक्षर में श्रीकृष्ण समाए हुए हैं उन्होंने कहा कि कथा सुनना समस्त दान प्रतीत होने आदि कर्मों से बढ़कर है भागवत कथा सुनने से महापापी ,प्रेत आत्मा का उद्धार हो जाता है उन्होंने कहा कि भागवत के चार अक्षर इसका तात्पर्य यह है कि भा से भक्ति ग से ज्ञान व से वैराग्य और ता से त्याग जो हमारे जीवन में प्रदान करें उसे हम भागवत कहते हैं। इस ज्ञान यज्ञ के पांचवें दिन के शुभ अवसर पर जिला परिषद सोलन के चेयरमैन रमेश ठाकुर और उनकी धर्मपत्नी भी उपस्थित रहे।

वेदव्यास कथावाचक संजीव कुमार गर्ग (शोषण) चंमदार वाले वाले भी उपस्थित हुए ।व रामशहर से जिला परिषद सदस्य राहुल शर्मा , बीडीओ(B D O) नालागढ़ गौरव धीमान ब्लॉक के (J E )विवेक राजेश महाजन ,पूर्व उप प्रधान जयदेव ठाकुर ग्राम पंचायत क्यार कन्यता और इलाके के बहुत सारे गणमान्य लोग और भारी संख्या में भक्तजनों ने इस महायज्ञ में अपना अमूल्य समय देकर का पुण्य प्राप्त किया ।

अंत में बाबूराम पवार और उनकी धर्मपत्नी कमलेश पवार जिला परिषद उपाध्यक्ष सोलन ने आए हुए अतिथियों को सम्मानित किया और उन का तहे दिल से भागवत कथा में आने पर धन्यवाद किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments