नालागढ़

कोविड-19 से बचाव व इसकी रोकथाम से संबंधित बैठक का आयोजन

(नालागढ़)ऋषभ शर्मा

आगामी समय में वैश्विक महामारी कोविड-19 की दूसरी लहर की रोकथाम व इस से बचाव के लिए उपमंडल प्रशासन नालागढ़ पूरी तरह सजग है तथा इस संबंध में सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। यह जानकारी उपमंडल मुख्यालय नालागढ़ में इस संबंध में आयोजित बैठक के दौरान एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुर्जर द्वारा दी गई। 


एसडीएम नालागढ़ ने बताया कि इस संबंध में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा के लिए राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य तथा नगर परिषद नालागढ़ बद्दी सहित अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ एक उपमंडल स्तरीय बैठक आयोजित की गई। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए वर्तमान में और अधिक सख्त कदम उठाने की आवश्यकता है, ताकि भविष्य में इससे संबंधित किसी गंभीर चुनौती का सामना न करना पड़े।

उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने की अनिवार्यता के साथ-साथ यात्री वाहनों में भी मास्क का उपयोग सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बसों में बिना मास्क के यात्रियों के पाए जाने पर बस मालिकों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी तथा बिना मास्क के ज्यादा संख्या में यात्री पाए जाने की स्थिति में संबंधित बस का रूट परमिट व पंजीकरण रद्द किया जा सकता है।

उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में बाहरी राज्यों से आने वाले व्यक्तियों पर विशेष निगरानी रखें। सभी राजस्व अधिकारी अपने क्षेत्रों में कोरोनावायरस की रैंडम जांच करवाना सुनिश्चित करें तथा किसी व्यक्ति के कोविड-19 पॉजिटिव आने की स्थिति में संबंधित व्यक्ति को होम आइसोलेट करने तथा उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाने सहित सभी आवश्यक कदम उठाएं।
एसडीएम नालागढ़ ने बताया कि सार्वजनिक स्थलों पर मास्क का शत प्रतिशत इस्तेमाल सुनिश्चित करने के लिए उपमंडल के पटवारियों तथा ग्राम सेवकों को भी सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों के चालान करने के लिए अधिकृत कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि प्रशासन द्वारा इस दिशा में की जा रही सख्ती क्षेत्र के लोगों की रक्षा के लिए अत्यंत आवश्यक है।

महेंद्र पाल गुर्जर ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी नालागढ़ को उनके विभाग के माध्यम से क्षेत्र में लोगों को टीकाकरण के बारे में जागरूक करने तथा कोविड-19 की जांच के लिए भेजे जा रहे नियमित नमूनों की संख्या में भी इजाफा करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि औद्योगिक कामगारों व अधिकारियों सहित किसी भी व्यक्ति के बाहरी राज्यों विशेषकर पंजाब, केरल, दिल्ली तथा तमिलनाडु इत्यादि से आने वाले व्यक्तियों की कोविड-19 से संबंधित जांच करवाना अनिवार्य है।

उन्होंने जानकारी दी कि उपमंडल प्रशासन द्वारा क्षेत्र के शिक्षण संस्थानों में कोविड-19 से बचाव के लिए बनाए गए नियमों की पालना सुनिश्चित करने के लिए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान नालागढ़ के प्रधानाचार्य इंजीनियर जोगिंदर शर्मा की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की गई है जो लगातार क्षेत्र के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में औचक निरीक्षण कर वहां पर कोविड-19 से बचाव के लिए बनाए गए नियमों की अनुपालना सुनिश्चित कर रही है।

बैठक में तहसीलदार नालागढ़ ऋषभ शर्मा, तहसीलदार रामशहर विमला वर्मा, तहसीलदार बद्दी मुकेश शर्मा, खंड चिकित्सा अधिकारी नालागढ़ डॉक्टर के डी जसल, कोविड-19 नोडल ऑफिसर (बीबीएन) डॉक्टर गगनदीप, डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!