काँगड़ा

आम आदमी पार्टी हुई मुखर

दिल्ली मॉडल को दोनो पार्टियां हजम नही कर पा रही: प्रवक्ता

(कांगडा) मनोज कुमार


प्रदेश आम आदमी पार्टी ने  प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और उनके संगठन पर आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के 4 नगर निगमो में 7 अप्रैल को  हो रहे चुनावों में अपनी हार को भांपते हुए आनन फानन में  प्रदेश की महिलाओं को एचआरटीसी की बसों में मुफ्त यात्रा करवाने का जो शुंगफा फेंका है व अपने आप में जनता को गुम राह करने की  प्रक्रिया से ज्यादा और कुछ नही है।
पार्टी  प्रवक्ता  कल्याण भंडारी ने मुख्यमंत्री के  उक्त बयान को हास्यास्पद बताया। भण्डारी ने  मुख्यमंत्री और उनके संगठन से सवाल किया की पहले वो बताएं कि पिछले चार सालों से सरकार में रहते हुए  दिल्ली की तर्ज पर ये काम   क्यों नही किया।


बीजेपी सार्वजनिक तौर पर भी साफ करें कि देश में भाजपा शासित  दूसरे प्रदेशों में अभी तक ऐसी सुविधा क्यों मुहैया नही करवा पाई।
नगर निगमों के चुनावों में ही प्रदेश की दोनो पार्टियां दिल्ली सरकार की नक़ल करने का मतलब सीधे सीधे जनता को   खुद सता में रहते हुए  भी काम नही कर पाना उनकी बौखलाहट  को उजागर करता है।
बजाए इसके इनकी नीतियां जनता को हर बार की तरह आज भी गुमराह करने वाली सिद्ध हो रही हैं।
जबकि आम आदमी पार्टी के दिल्ली मॉडल  की कई देशों और देश के सारे प्रदेशों ने सराहना की है। दिल्ली मॉडल को पार्टी ने हिमाचल समेत दूसरे प्रदेशों में भी  लागू  करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है।पार्टी का आरोप है कि आज दिल्ली मॉडल को दोनो पार्टियां हजम नही कर पा रही है।
आलम ये है कि प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री ठाकुर जय राम ने अगर  प्रदेश और प्रदेश के नगर निगमों,नगर परिषदों में यदि काम किए होते तो शायद  मुख्यमंत्री अपने पद की गरिमा को कायम रखते हुए आज उनको छोटे से चुनाव के मध्यनजर गलियों कूचों  में ना घूमना  पड़ता।
मुख्यमंत्री जैसी  शख्सियत को ध्यान में रखते हुए उनकी रैलियों में भी उधारी के लोग एकत्रित किए जा रहे हैं। जिसका संबंधित क्षेत्रों, खासकर सोलन शहर में ऐसा वाक्य देखने को मिला।
आम आदमी के प्रवक्ता ने प्रदेश की वर्तमान भाजपा सरकार पर यह भी आरोप लगाया है कि आज तक सत्ता में रहते हुए यह भी बताने की कृपा करें की जो मुद्दे उन्होंने वर्तमान में नगर निगमों  के चुनावों हेतु अपने चुनाव घोषणापत्र में रखें है उन्हीं मुद्दों को उन्होंने अपने 4 साल के कार्यकाल में क्यों कार्यन्वित नहीं किया। प्रदेश के 3 नगर निगमों के इलावा सोलन शहर में वर्तमान नगर परिषद  में भाजपा का कब्जा है तो उन्होंने अभी तक शहर की छोटी-छोटी समस्याओं  के निवारण को लेकर अभी तक क्या किया यह भी देखने वाली बात है।जनता आज इसका हिसाब मांग रही है।जिसका भुगतान जनता निगम चुनावों  में 07.4.21 को चुकता करने वाली है। कांग्रेस और भाजपा ने प्रदेश के नगर  निगमो में लोगों को मूलभूत  सुविधाओं को नजर अंदाज किया जिस कारण जनता को आज  असुविधाओं का सामना करने पर मजबूर होना पड़ रहा है।जिसका हिसाब  जनता निगमों के चुनावों में देने वाली है।


आज दोनो पार्टियों द्वारा पिछला हिसाब किताब सार्वजनिक किए बगैर अबतक ताजा घोषणा  पत्र जारी करने का सिलसिला जारी रखा हुआ है। जिस कारण जनता की आंखे में  बार बार धूल झोंके जाने का  असफल प्रयास किया जा रहा है।इसका आम आदमी पार्टी विरोध करती है। दोनो दलों को  हर  5 साल बाद जनता को गुमराह करने मे  महारत हासिल है।  इससे ज्यादा और कुछ नहीं है। इसको लेकर जनता में भारी रोष पनप रहा है।
अत:जनता दुखी होकर आज आम आदमी पार्टी  का डट कर सहयोग कर रही ही।जिसका उदाहरण आज जनता के बीच जाकर देखते ही मिल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!