मनरेगा मजदूरों को बोर्ड से मिली लाखों रु की चिकित्सा सहायता

यूनियन और कल्याण बोर्ड बना मज़दूरों का सहारा

(सरकाघाट)रितेश चौहान


धर्मपुर विकास खण्ड के मनरेगा मजदूरों को स्वयं औऱ परिवार के सदस्यों के ईलाज पर होने वाले खर्चे की राशी बोर्ड से मिलना शुरू हो गई है।इन सभी मजदूरों का राज्य श्रमिक कल्याण बोर्ड से यूनियन के माध्यम से पंजीकरण हुआ था।मनरेगा मज़दूर यूनियन के खंड अध्यक्ष करतार सिंह चौहान महासचिव प्रकाश वर्मा कोषाध्यक्ष सूबेदार मोहनलाल और सीटू के ज़िला प्रधान व पूर्व ज़िला पार्षद भूपेंद्र सिंह ने बताया कि यूनियन के माध्यम से पंजीकृत पैंतालीस मजदूरों को साढ़े सात लाख रुपये की राशी स्वीकृत हुई है।

जिसमें सजाओपीपलु के भेड़ी गांव की शिला देवी को उनके पति के ईलाज के लिए एक लाख चालीस हजार रुपये स्वीकृत हुये हैं।सधोट गाँव की लता देवी को 62 हज़ार गदोहल गांव की डोलमा देवी को 40 हज़ार गदेहड़ा गांव की सुनीता देवी को बीस हजार डरवाड़ गांव की शांता देवी को 31 हज़ार छतरैना गांव की इंदु ठाकुर को 58 हज़ार सरी पँचायत के कपाही गांव की व्यासा देवी को 26350 रु पिपली गांव की कुसमा देवी को 55 हज़ार रुपये रटकेल गांव की रीना देवी को 12 हज़ार परसदा हवानी की नीना देवी को 13 हज़ार चस्वाल गांव की निटो देवी को 12 हज़ार रुपये जारी हुए हैं।इसके अलावा गरौडु की लता देवी पिपली की कुष्मां देवी घरवासड़ा गांव की तारा देवी, सरोजनी दिप्पा देवी और लता देवी अंसवाई की निर्मला देवी गहरा गांव की सुनीता देवी सधोट की कृष्णि देवी औऱ सलिता देवी परसदा हवानी की नीना देवी बांदल की रीता देवी डरवाड़ की पवना देवी, रीता देवी पिपली गांव की अंजली,कुसुमलता, सुनीता चन्देल औऱ भारती देवी, गदयाड़ा की सुनीता देवी औऱ सरिता देवी चस्वाल की पुष्पलता टिक्कर गांव की कमला देवी मोरला की लत्ता देवी सरी की आशो देवी रोसो की निलमरानी सजयोड़ी की जमना देवी खोउद्दा की रीता देवी मोरला की लत्ता देवी सरौन की प्रमिला देवी को भी चिकित्सा सहायता राशि स्वीकृत हुई है।इन सभी मजदूरों ने इसके लिए बोर्ड औऱ यूनियन तथा पूर्व ज़िला पार्षद का धन्यवाद किया है।सीटू के ज़िला प्रधान व पूर्व ज़िला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह ने बताया कि बोर्ड से पंजीकृत मजदूरों तथा उनके परिवार के किसी भी सदस्य के बीमार होने पर बाह्य रूप में ईलाज करवाने पर साल में अधिकतम 50 हज़ार रुपये तथा इनडोर ईलाज के लिए एक लाख रुपये की सहायता राशि मिलती है।इसके अलावा गम्भीर बीमारियों जैसे हार्ट की सर्ज़री, कैंसर, किडनी ट्रांसप्लांट ईत्यादी के लिए अधिकतम पांच लाख रुपये तक कि सहायता राशी मिलती है।ये सहायता सरकारी अस्पताल के अलवा मान्यता प्राप्त प्राइवेट अस्पतालों में ईलाज करवाने पर मजदूरों को प्राप्त होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!