सरकाघाट

10 दिनों में ईसीएच में डॉक्टरों के पद ना भरे तो भूख हड़ताल पर बैठेग़ी पूर्व सैनिक लीग


एक महीने से बिना डॉक्टरों के हैं अस्पताल
एक साल से रिक्त पड़ा है अस्पताल प्रभारी का रिक्त


(सरकाघाट)रितेश चौहान

सरकाघाट और धर्मपुर उपमंडलों के  17हजार पूर्व सैंनिकों एवम पूर्व सैनिकों की वीर नारियों को स्वास्थय सेवाएं देने वाले एक मात्र ईसीएच अस्पताल में पिछले एक वर्ष से जहां कोई अस्पताल का प्रभारी नहीं है वहीं गत एक माह से कोई डॉक्टर भी इनके स्वास्थ्य की देखभाल करने के लिए  उपलव्ध  नहीं है। इसी विषय को लेकर गुस्साए पूर्व सैनिकों की  अपातकालीन वैठक  पूर्व सैनिक  लीग   के उपाध्यक्ष कश्मीर सिंह की अध्यक्षता में सरकाघाट में सम्पन हुई। इस वैठक मे करीव 45 पूर्व सैनिको ने भाग लिया और सभी पूर्व सैनिकों ने अपने अपने विचार रखे और प्रबन्धको की कडे शव्दो में निंदा करते हुए कहा कि वडी हैरानी की बात है ।

संधोल से लेकर त्रिफालघाट तक के पूर्व सैंनिक जो वृद्धावस्था में अनेक बीमारियों से जूझ रहे हैं, यहां अपने स्वास्थय की जांच के लिए आते है ।लेकिन इसीएच सरकाघाट में डॉक्टर न होने से न दवाईयां मिल पा रही है और न ही वाजार से ली गई दवाईयों के बिलों का भुगतान गत एक वर्ष से नही हो पाया है जिससे पूर्व सैनिक मायूस हो घर  लौट आते हैं। जिससे एक तो जहां उनका समय बरबाद होता है वहीं भारीभरकम बसों और टैक्सियों का किराया देने में पैंसो का भी हर्जा होता है। और इन्हें वुढापें मे बडी परेशानी उठानी पड रही  है।लीग के उपाध्यक्ष कश्मीर सिंह व अन्य पूर्व सैनिकों ने कहा कि इसीएचएस सरकाघाट लावारिस हो गया है अगर यहां सुविधाएं उपलव्ध नही करवाई जा रही है तो इसीएचएस को बंद कर देना चाहिए अन्यथा सही ढंग से चलाया जाए। पूर्व सैंनिकों  ने प्रबन्धको  चेतावनी देते हुए कहा कि यदि 10 दिनो के अंदर इसीएचएस में  इन्चार्ज व रिक्त पडे डॉक्टरों के पदो को नहीं भरा गया तो, क्षेत्र के हजारों पूर्व सैंनिक इसीएसएस के वाहर भूख हडताल पर वैठने के लिए मजबुर हो जाएगें। इस  अवसर पर कैप्टन रघवीर सिंह, वाली राम, कैप्टन रामभज, प्यारे लाल, कश्मीर सिंह, सुवेदार चरणदास, प्यार चंद, सुवेदार कर्मचंद, किशोर चंद, कैप्टन चांद राम भारद्वाज नायक दीप राम आदि विशेष तौर पर उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!