ऊना

मैड़ी मेले में कोविड नियमों की होगी सख्ती से पालना, 72 घंटे तक पुरानी रिपोर्ट ही मान्य


मैड़ी मेले के दौरान मालवाहक वाहनों में आने वालों की हिमाचल में नो एंट्री


(ऊना)ललित ठाकुर

डेरा बाबा बड़भाग सिंह में 21 से 31 मार्च तक चलने होने वाले होली मेला के प्रबंधों को लेकर खंड विकास कार्यालय अंब के समिति हॉल में समीक्षा बैठक का आयेाजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त, ऊना राघव शर्मा ने बताया कि होली मेला के आयोजन को लेकर एडीसी ऊना को मेला अधिकारी जबकि एसडीएम अंब को अतिरिक्त मेला अधिकारी नियुक्त किया गया है।

उन्होंने बताया कि मेले के दौरान झंडे की रस्म 28 मार्च को प्रातः 8 बजे और प्रसाद 30 व 31 मार्च की मध्यरात्रि 2 बजे वितरित किया जाएगा।
डीसी राघव शर्मा ने बताया कि मेला क्षेत्र में कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस एवं होमगार्ड के लगभग 1800 कर्मचारी तैनात किए जाएंगे, जिनमें 800 पुरुष व 125 महिला पुलिस कर्मी तथा 750 होमगार्ड के जवान शामिल रहेंगे और मेला क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में सीसीटीवी कैमरे भी स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि मेला अवधि के दौरान 3 क्रेन तैनात रहेंगी जिनमे से एक हाईवे पर और दो पार्किंग प्वाईंट पर उपलब्ध रहेगी।

इसके अलावा एक अग्निशमन वाहन भी तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेला क्षेत्र में दुकान अतिक्रमण न करें, ताकि श्रद्धालुओं को आने-जाने में किसी भी प्रकार की असुविधा न हो।
डीसी ने कहा कि ट्रकों, ट्रैक्टर-ट्रॉली व ट्रालों में सवारियों ढोने पर प्रतिबंध रहेगा। ऐसा करने वाले वाहन मालिकों पर हिमाचल प्रवेश द्वार पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी और आगे नहीं जाने दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए प्रवेश द्वार श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए शटल बसें लगाई जाएंगी। इसके लिए एचआरटीसी के अन्य डिपुओं से 20 अतिरिक्त बसें मंगवाई गई है।
डीसी ने बताया कि मेला क्षेत्र में सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाएगा। इसके लिए मेला अवधि के दौरान 200 अस्थाई शौचालय स्थापित किए जाएंगे और 200 सफाई कर्मियों की तैनाती की जाएगी। उन्होंने कहा कि मेला क्षेत्र में प्लास्टिक व पॉलीथीन के प्रयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने जल शक्ति विभाग और विद्युत विभाग को पेयजल और विद्युत की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पेयजल आपूर्ति के लिए तीन टेंकर लगाए जाएंगे और जल शक्ति विभाग द्वारा जल स्रोतों की क्लोरिनेशन के साथ-साथ चिन्हित स्रोतों से ही जलापूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।
कोविड नियमों की होगी सख्ती से अनुपालना
डीसी राघव शर्मा ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर जारी दिशा निर्देशों की कड़ाई से अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी। मास्क के प्रयोग, हाथों की स्वच्छता और संपूर्ण मेला क्षेत्र में दो गज की दूरी के मानकों को सख्ती से लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेले में बाहरी राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आएंगे। बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए मेला क्षेत्र में पहुंचने से 72 पूर्व मान्यता प्राप्त लेबोरेटरी द्वारा जारी कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाना अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि इस बारे पंजाब व हरियाणा राज्यों के समस्त उपायुक्तों से पत्राचार भी किया गया है।
डीसी ने बताया कि मेला क्षेत्र मे चार एलोपैथिक व 2 आयुर्वेदिक मैडिकल पोस्ट खोली जाएंगी। इसके अलावा किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्थिति में मरीजों को ले जाने के लिए एक एंबुलैंस नैहरी और एक मैड़ी में उपलब्ध रहेगी।
इस अवसर पर अध्यक्ष बीडीसी अंब सुनीता कुमारी, एडीसी ऊना डॉ. अमित कुमार शर्मा, एसपी ऊना अजित सेन ठाकुर, एएसपी विनोद कुमार धीमान, डीएसपी अंब सृष्टि पांडे, डीएफएससी विजय सिंह हमलाल, एसडीएम अंब मनेश कुमार यादव, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ. राजेश कुमार शर्मा, डॉ अजय अत्री, बीडीओ अंब जोगिन्द्र शर्मा, बीएमओ अंब राजीव गर्ग और मैड़ी के गुरुद्वारों व धार्मिक स्थलों के प्रबंधक व प्रभारी सहित अन्य विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!