पठानकोट

दूसरे दिन भी बैंक रहे हड़ताल पर, दो दिनों में लगभग 90 करोड़ का कारोबार हुआ प्रभावित


(पठानकोट)सूरज सैनी


बैंकों के निजीकरण के खिलाफ यूनाइटेड फोरम आफ बैंक आफिसर यूनियन के आह्वान पर आज दूसरे दिन भी जिले के सरकारी बैंक बंद रहे। इस हड़ताल के कारण जिलेभर के बैंकों में कोई लेनदेन नहीं हुई। इससे लगभग 90 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा। वहीं आमजन को भी बेहद परेशानियां आई। उन्हें लेनदेन के लिए सिर्फ एटीएम पर निर्भर रहना पड़ा। कई लोगों को अपने किसी जरूरी कार्यों के लिए खातों में चेक लगाने थे, परंतु बैंक बंद होने के कारण वह लोग बैंक काम करवाने के लिए पहुंचे परन्तु उनका काम न होने के कारण परेशान होकर वह घर को लौट गये।


एसबीआई आफिसर एसोसिएशन के रीजनल सचिव प्रदीप भारद्वाज ने कहा कि यह दो दिवसीय हड़ताल सरकार की जनविरोधी बैंकिग, आर्थिक नीतियों, सार्वजनिक क्षेत्र की बैंकों के निजीकरण व उनमें विनिवेश के सरकार के फैसलों के विरोध में है।
दूसरे दिन भी बैंकों की हड़ताल रहने के कारण लोगों की एटीएम से पैसे निकालने के लिए लाइने लग गई, हालात यह थे कि कई जगहों पर एटीएम में कैश खत्म हो गया।
लोगां ने कहा कि कब बैंको की हड़ताल खत्म हो तथा बैंक खुले और वह लोग अपने पैसे निकाल सकें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!