शादियों के लिए बीस लाख की सहायता जारी : भूपेंद्र


स्वतंत्र हिमाचल

(सरकाघाट)रंजना ठाकुर


धर्मपुर विकास खण्ड की विभिन्न ग्राम पंचायतों में पंजीकृत मनरेगा मज़दूरों के बच्चों की शादियों के लिए राज्य श्रमिक कल्याण बोर्ड ने बीस लाख रुपये की सहायता प्रदान की है।ज़िला परिषद सदस्य व मज़दूर संगठन सीटू के ज़िला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने बताया कि मनरेगा मज़दूर यूनियन धर्मपुर द्धारा पिछले पांच वर्षों से मनरेगा मज़दूरों को राज्य श्रमिक बोर्ड शिमला से पंजीकृत करवाने का कार्य किया जा रहा है जिन्हें बोर्ड से कई प्रकार के फायदे हासिल हो रहे हैं और अभी तक पांच वर्षों में पंद्रह करोड़ रुपये से अधिक की सहायता प्राप्त हो चुकी है जो मंडी ज़िला में सबसे अधिक है।

उन्होंने बताया कि गत छह महीने में हुई पचास के आसपास मनरेगा मज़दूरों के बच्चों की शादीयों के लिए पैंतीस हज़ार रुपये की दर से बीस लाख रुपये की सहायता जारी हुई है । जिन मज़दूरों को सहायता राशी जारी हुई है उनमें स्याठी गांव की सुनीता देवी और प्रकाशां देवी, रोसो गांव की पवना, अंजना और सुदर्शना सधोट गांव की बिना देवी, सुनीता देवी, सलिता देवी सजाउडी की निर्मला देवी करनोहल के गुरुदेव बासी कोठी की रुमला देवी, चोलथरा की शिला देवी करयाल की सागरा देवी,बाग गांव की गुड्डी देवी धलौंन की किरण, स्योह की पवना देवी और खनोउड़ की सरिता देवी सिद्धपुर की सुमना, मलका और शारदा गरली की बबली देवी चस्वाल की सत्या देवी और सन्तोष कुमार सरी की संगीता देवी लोअर थाना की बिमला देवी और रणजीत सिंह जडियार की लीला देवी ढगवानी की मुकेश कुमारी सकोहट्टा की शोमा देवी बेंझखोला की बबली देवी टिककर की रीता देवी लग्यार की पवना देवी कोट की आशा देवी धलारा की सपना देवी बैरी की नीलम और चतरौंन कि जमीला देवी गरौड्डू की माया देवी और सरिता देवी जरेड गांव की रामदेई मसेरन की रीना देवी सरी की संगीता देवी लौंगनी की शीला व प्रोमिला इत्यादि शामिल हैं।भूपेंद्र सिंह ने ये भी बताया कि सितंबर माह के बाद जो शादियां हुई हैं उन्हें अब बोर्ड की ओर से पैंतीस के बजाये 51 हज़ार रुपये मिलेंगे जो पहले से 16 हज़ार रुपये अधिक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!