अर्की

आंगनबाड़ी वर्करज एवं हेल्परज यूनियन ने मुख्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन

(अर्की)कृष्ण रघुवंशी

आंगनवाड़ी वर्करज़ एवं हैल्पर्ज यूनियन संबंधित सीटू की प्रदेश समीति द्धारा अपनी मांगों को लेकर गत दिवस शिमला में विधानसभा में किए प्रदर्शन में अर्की यूनियन से लगभग डेढ़ सौ आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया ! अर्की यूनियन की अध्यक्ष विमला ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि इस अवसर पर यूनियन की राष्टृीय अध्यक्ष उषा रानी व सीटू के राष्टृीय सचिव कश्मीर ठाकुर विशेष रूप से उपस्थित रहे ! विमला ठाकुर ने बताया कि विधानसभा के बाहर प्रदर्शन के पश्चात मुख्यमंत्री को अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा

! जिसमें प्री प्राईमरी कक्षाओं के लिए आंगन वाड़ी कार्यकर्ताओं की नियुक्ति की प्रमुख रूप से मांग की गई ! उनका कहना था कि वर्तमान में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ही छः वर्ष से कम उम्र के बच्चों की शिक्षा का कार्य देख रहे हैं ! ज्ञापन में मांग की गई है कि प्री प्राईमरी कक्षाओं को पढ़ाने की जिम्मेवारी आंगनबाड़ी कर्मियों को देने की घोषणा प्रदेश सरकार बहजट सत्र में ही करे ! उन्होने नई शिक्षा नीति को भी वापिस लेने की मांग की है ! उनका कहना है कि यह नीति न केवल छात्र विोधी है अपितु आईसीडीस विरोधी भी है ! इस से भविष्य में आंगनबाड़ी कर्मियों को राजगार से हाथ धोना पड़ेगा ! आंगनबाड़ी कर्मियाके ने केंद्र सरकार द्धारा वर्ष 2021 के आई सीडीस बहजट में की गई 30 प्रतिशत कटौती को आंगनबाड़ी कर्मियों के राजगार पर बड़ा हमला करार दिया है ! उन्होने प्रदेश सरकार द्धार आंगनबाड़ी वर्करज़ व हैल्परज़ के वेतन में पांच सौ व तीन सौ रूप्ये की बढ़ोतरी को क्रूर मज़ाक करार दिया है ! मुख्यमंत्री को दिए गए ज्ञापन में वर्ष 2013 में हुए पैंतालीसवें भारतीय श्रम सम्मेलन की सिफारिश के अनुसार आंगनबाड़ी कर्मियों को नियमित करने की मांग की है! उन्होने मांग की है कि आंगनबाड़ी कर्मियों को हरियाणा की तर्ज पर वेतन और अन्य सुविधाएं दी जाएं ! साथ ही तीन हजार रूपये पेंशन,दो लाख रूपये ग्रेच्युटी,मैडिकल व छुटिटयों की सुविधा लागू करने के साथ अन्य मंागे ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री के समक्ष रखी र्गइं ! इस अवसर पर यूनियन की प्रदेशाध्यक्ष नीलम जसवाल,महासचिव वीना शर्मा,सीटू के प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा,महासचिव प्रेम गौतम,उपाध्यक्ष जगतराम,बिहारी सेवगी,राजेश शर्मा,सुदेश कुमारी तथा यूनियन की अन्य सदस्याऐं मौजूर रहीं !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!