काँगड़ा

निफ्ट कांगड़ा और एनआईटी जालंधर ने एमओयू पर किए हस्ताक्षर


(कांगड़ा)मनोज कुमार


राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान, कांगड़ा और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जालंधर ने 9 फरवरी 2021 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर एनआईटी जालंधर से प्रोफेसर एल.के. अवस्थी, निदेशक एनआईटी जालंधर, डॉ० एस.के. मिश्रा, रजिस्ट्रार एनआईटी जालंधर, प्रोफेसर आर.के. गर्ग, डीन (उद्योग और अंतर्राष्ट्रीय संबंध), प्रोफेसर अनीश सचदेवा, डीन (छात्र कल्याण), प्रोफेसर बीएस सैनी, डीन (इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट), प्रोफेसर विनय मिड्ढा, डीन (फैकल्टी वेलफेयर) सहित छह प्रतिनिधियों की समिति ने 09 फरवरी 2021 को निफ्ट कांगड़ा का दौरा किया। निफ्ट कांगड़ा ने सेंटर फॉर एडवांस टेक्सटाइल स्टडीज बिल्डिंग में कार्यक्रम आयोजित किया गया ।

एमओयू पाठ्यक्रम डिजाइन में दोनों संस्थानों की मदद करेगा, इसके अतिरिक्त छात्रों के प्रशिक्षण, अनुसंधान, कौशल विकास, संकाय विकास कार्यक्रम, अतिथि व्याख्यान और छात्र प्लेसमेंट सहायता मिलेगी । एम ओ यू छात्रों और प्राध्यापक सदस्यों के विकास हेतु बुनियादी ढांचे, ज्ञान को साझा करने की सुविधा प्रदान करेगा। दोनों संस्थान के प्राध्यापक सदस्य अब आवश्यकता के अनुसार कक्षाएं ले सकते हैं और छात्रों को संबंधित क्षेत्रों में मार्गदर्शन करने में मदद करेंगे।
आकांक्षा देवांगन, (आईआरएस) निदेशक निफ्ट कांगड़ा ने कहा की “निफ्ट कांगड़ा और एनआईटी जलंधर के बीच लंबे संबंध को आगे ले जाने के लिए एमओयू एक प्रभावी कदम है”। प्रोफेसर एल के अवस्थी, निदेशक एनआईटी जालंधर और प्रभारी एनआईटी हमीरपुर ने कहा कि “यह एमओयू इस क्षेत्र में संस्थान के बीच संबधों को बेहतर बनाएगा और दोनों संस्थानों के लिए महत्वपूर्ण होगा|” । प्रोफेसर विनय मिधा, डीन (फैकल्टी वेलफेयर) ने कहा की “संकाय सदस्य एवं निफ्ट कांगड़ा के छात्र पिछले एक दशक से नियमित रूप से एनआईटी जालंधर का दौरा कर रहे हैं और यह समझौता ज्ञापन लंबे समय तक रिश्तों को और मजबूती प्रदान करेगा” । प्रोफ़ेसर अनीश सचदेवा, डीन (स्टूडेंट्स वेलफ़ेयर) ने कहा कि “एनआईएफटी एक डिजाइन संस्थान है और एनआईटी जालंधर प्रौद्योगिकी और डिजाइन के बीच सहयोग है”। एनआईटी जालंधर से आये सभी सदस्यों ने पूरे निफ्ट कांगड़ा परिसर का दौरा किया और बुनियादी सुविधाओं एवं छात्रों के रचनात्मकता से प्रभावित हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!