काण्डापतन कौंसल पैहड सम्पर्क मार्ग कच्चा होने व गड्ढे होने से लोगो को परेशानी


धर्मपुर ब्लाक कांग्रेस सचिव रमेश चन्द बोले महेन्द्र सिंह की राजनितिक द्वेष की भावना के चलते नही हो रहा सम्पर्क मार्ग पक्का


स्वतंत्र हिमाचल (धर्मपुर) डी आर कटवाल


धर्मपुर उपमंडल की पिछड़ी ग्राम पंचायत पैहड के अन्तर्गत आने वाले काण्डापतन- कौंसल-पैहड सम्पर्क मार्ग पिछले 30 वर्षो से कच्चा होने व सड़क पर गड्ढे पड़ने के कारण कौंसल-पैहड-खरेहड-डवाल के लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है बता दें कि तीन दशक पहले बना यह सम्पर्क मार्ग आज भी अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है धर्मपुर ब्लाक कांग्रेस के सचिव रमेश चन्द ने स्थानीय विधायक व मन्त्री महेन्द्र सिंह पर आरोप लगाया है।

कि महेन्द्र सिंह राजनीतिक द्वेष के कारण इस सम्पर्क मार्ग का कार्य नही करवा रहे है जबकि इस सम्पर्क मार्ग का निर्माण कार्य 1985 में हुआ था और पिछली कांग्रेस सरकार के समय धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र से हैंडलूम व हैंडीक्राफ्ट के उपाध्यक्ष चन्द्रशेखर जी व पूर्व मुख्यमंत्री राजा वीरभद्र के कार्यकाल में काण्डापतन पुल से लेकर कौंसल-पैहड-खरेहड व लुधियाना गांव के दौईं का गलु से वाया बनेरढी झरेडा छिड जाजर से होते हुए गयुन गांव तक 9 करोड़ 20 लाख की डीपीआर तैयार करके इस सड़क को पक्का करने के लिए राशी भी स्वीकृत हो चुकी थी लेकिन 2017 में सरकार के सता परिवर्तन होने के कारण इस सड़क को भाजपा सरकार तीन वर्ष बीत जाने के बावजूद भी पक्का नही करवा पाई सरकार इसमें स्थानीय जनता के साथ राजनितिक द्वेष की भावना से काम कर रही है ।

रमेश चन्द धर्मपुर ब्लाक कांग्रेस सचिव

रमेश चन्द ने बताया कि कई बार महेन्द्र सिंह इस सड़क में सोलिंग बिछाने और छोटे-छोटे कलवरट बनाने के लिए भूमि पूजन कर चुके है इन भूमि पूजन पर किए खर्चो के पैसे से तो यह सम्पर्क मार्ग पक्का हो जाता लेकिन हकीकत और जमीनी स्तर पर कुछ भी नही है ब्लाक कांग्रेस सचिव ने बताया कि सम्पर्क मार्ग के कच्चा होने व गड्ढे होने के कारण लोगो को वाया बरोटी होकर 25 किलोमीटर का सफर करके धर्मपुर जाना पड़ता है जबकि काण्डापतन पुल से यह सफर केवल 10 किलोमीटर बनता है ।

इस सड़क पर एक फूट से लेकर दो फूट गहरे और चौड़े गड्ढे पड़े हुए है जिसके कारण यहां से आने जाने वाले आम राहगीरों के साथ साथ गाड़ी चालकोको भी बहुत समस्या का सामना करना पड़ रहा है सरकार और सरकार में बैठे मन्त्री आंखो में काली पट्टी बांधकर सता सुख भोग रहे है इसमे बारे जब सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग मण्डप से सम्पर्क किया तो उन्होंने बताया कि इस सम्पर्क मार्ग का अवार्ड हो चुका है परन्तु अभी तक मन्त्री जी के दिशा-निर्देश नही मिले है कि इसका कार्य वाया कौंसल-पैहड करना है या हयोलग-पंडगोह होकर करना है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!