शौर्य दिवस पर केसरिया हिन्दू वाहिनी ने किया पौधारोपण व श्रद्धांजलि अर्पित

स्वतंत्र हिमाचल

(धर्मशाला)मनोज कुमार

केसरिया हिन्दू वाहिनी ने 6 दिसम्बर 1992 शौर्य दिवस की 28 वीं वर्षगांठ पर विवादित बाबरी मस्जिद ढांचे को गिराने और प्रभु श्रीराम मंदिर की कारसेवा में अपना बलिदान देने वाले हिन्दूजनों को श्रद्धांजलि अर्पित की है । भारत के सनातन धर्म की हिन्दू संस्कृति और स्वाभिमान के प्रतीक प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर अयोध्या में बने, यही उन कारसेवकों की दिली इच्छा थी जिन्होंने आयोध्या में प्रभु श्रीराम मन्दिर निर्माण के लिए भारत देश के लुटेरे बाबर द्वारा जबरन बनाई बाबरी मस्जिद के गुम्बदों को गिराने व पुनः भव्य मंदिर निर्माण के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी थी ।

उनको आज शौर्य दिवस पर केसरिया हिन्दू वाहिनी मुख्य मोर्चा जिला कांगड़ा के अध्यक्ष इंजी.चन्द्रभूषण मिश्रा, महासचिव संजय कुमार, केसरिया हिन्दू वाहिनी महिला मोर्चा कांगड़ा जिला अध्यक्षा रेशमा देवी, महासचिव इन्दु कुमारी , तहसील अध्यक्ष नितिन शर्मा, ब्लॉक अध्यक्ष शम्मी कौण्डल, नगर अध्यक्ष सुनील कुमार पवन, नगर युवा मोर्चा अध्यक्ष राहुल के अलावा कुसुम शर्मा, विद्याधर शर्मा, शक्ति भवानी, रीटा मिश्रा,ममता भट, सरोज भट्ट, डोली सैनी, मिक्कू सैणी, वीरेन्द्र ठाकुर, नीरू ठाकुर, अमित शर्मा तपोवन राम मन्दिर संत समाज, निर्मला सोहल, नीलम गुप्ता, इन्दु वाला, रीना देवी, मीनाक्षी देवी, कुसुम लता, मंजना देवी, सपना कुमारी, अंजू वाला, वविता और सीमा देवी ने उनकी याद में सिद्धबाड़ी तपोवन में पौधारोपण करके श्रद्धांजलि अर्पित की ।

उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर, 1992 को विवादित बाबरी मस्जिद ढांचे को ढहा दिया गया था. देश के इतिहास में यह ऐसा दिन था, जो आज तक चर्चा के केंद्र में रहता है और जिस मकसद से बाबरी मस्जिद गिराई गई थी, वह काम आज भारत देश के यशस्वी, ओजस्वी विचारों से ओतप्रोत प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी ने आयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन कर पूरा किया है जो युगों-युगों तक अविस्मरणीय रहेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!